आँख खुली तो तन्हाई थी, सपना हो न सका अपना

नई दिल्ली. फिल्म अभिनेत्री से तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनीं स्व. जयललिता की निकट सहयोगी होने का दम भरने वाली वीके शशिकला.

संत वैलेंटाइन दिवस और एक पुरानी फिल्म सरस्वती चंद्र… पार्श्व गायक मुकेश का गाया गीत ‘फूल तुम्हें भेजा है ख़त में…’

आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला… आरोपी और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने के सपने संजो रहीं शशिकला… सुप्रीम कोर्ट का फैसला… शशिकला को जेल…

मशहूर संगीतकार जोड़ी कल्याणजी-आनंदजी की धुन पर मुकेश गीत को आगे बढाते हुए गाते हैं ‘आँख खुली तो तन्हाई थी, सपना हो न सका अपना…’

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में शशिकला व उनके दो रिश्तेदारों वीएन सुधाकरण और जे. इलावरसी को बरी करने का कर्नाटक हाई कोर्ट का फैसला रद कर दिया.

इसके साथ ही अम्मा (जयललिता) की तर्ज़ पर ‘चिनम्मा’ बनने के ख्वाब देखा रही शशिकला का राजनीतिक भविष्य शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया.

कोर्ट ने भ्रष्टाचार के जुर्म में शशिकला को चार साल की कैद व दस करोड़ रुपये जुर्माने की सजा सुनाते हुए उन्हें तत्काल आत्मसमर्पण करने को कहा है. जयललिता की मृत्यु हो जाने के कारण कोर्ट ने उनके खिलाफ मामला खत्म कर दिया है.

न्यायमूर्ति पीसी घोष व न्यायमूर्ति अमिताव रॉय की पीठ के इस फैसले के बाद बजाय आत्मसमर्पण के शशिकला तमिलनाडु की सत्ता पर परोक्ष रूप से काबिज़ होने की कोशिशों में जुट गई हैं और उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी तथा कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम को पार्टी से बर्खास्त कर दिया है.

इसके साथ ही शशिकला ने अपने वफादार ईके पलानीस्वामी को विधायक दल का नेता बना दिया है. पलानीस्वामी ने मंगलवार शाम को ही राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया.

भ्रष्टाचार के अपराध में दोषी होने के कारण शशिकला दस साल के लिए चुनाव लड़ने के अयोग्य हो गई हैं. कानून के मुताबिक सजा पूरी होने के छह साल बाद तक चुनाव लड़ने की अयोग्यता रहती है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY