केजरीवाल के अफसर के खिलाफ सीबीआई चला सकेगी केस, गृह मंत्रालय ने दी मंज़ूरी

नई दिल्ली. अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव और निलंबित आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार के खिलाफ सीबीअई मामला चला सकेगी. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सीबीआई को इसकी मंज़ूरी दे दी है.

इसके साथ ही केंद्र सरकार ने राजेंद्र कुमार की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) की अर्जी भी ठुकरा दी है. कुमार पर एक निजी कंपनी को दिल्ली सरकार का ठेका देने में अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप है.

कुमार को भ्रष्टाचार के आरोप में बीते साल चार जुलाई को गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन उसके बाद 26 जुलाई को उन्हें जमानत मिल गई थी.

वीआरएस की दरख्वास्त नामंजूर करने के पीछे उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला चलने को कारण बताया जा रहा है.

राजेंद्र कुमार ने केंद्र सरकार से वीआरएस माँगते हुए एक पत्र लिखा था कि सीबीआई ने उन पर केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव डाला था. ऐसा करने पर उन्हें छोड़ने की बात भी सीबीआई ने उनसे कही थी.

पत्र में राजेंद्र कुमार ने कहा कि अब उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है. सीबीआई के जरिए उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है और झूठे केसों में फंसाया जा रहा है.

राजेंद्र कुमार 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. उन पर निजी कंपनी एंडेवर सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड को दिल्ली सरकार का कुल 9.5 करोड़ रुपये का ठेका देने में अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY