पूर्वजों की थाती गंवाने वाले तीन वंशवादी नेता

0
19

राजीव गांधी के जमाने में यानी 1984-89 में कांग्रेस 410 सांसदों वाली पार्टी हुआ करती थी. राहुल गांधी ने 44 सीटों पर पहुंचा दी वही पार्टी.

मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी बनायी. कहने को राम मनोहर लोहिया के आदर्शों-सिद्धांतों वाली पार्टी थी.

एक ज़माना था कि समाजवादी पार्टी में यादवों के अलावा अन्य पिछड़ी जातियाँ, गरीब-गुरबा हुआ करते थे. आज से सिर्फ 5 साल पहले भी समाजवादी पार्टी गैर यादव अन्य पिछड़े वोट से जीती थी.

अखिलेश यादव ने आज समाजवादी पार्टी को सिर्फ और सिर्फ अहीरों की पार्टी बना दिया है जो मुसलमानों के टॉप-अप से चलती है.

अगर मुसलमानों ने पार्टी को वोट दिया तो सीट जीतेगी वरना सूपड़ा साफ. अकेले यादव वोट से सीट नहीं निकलती.

चौधरी चरण सिंह जी सही मायनों में धरती पुत्र थे, किसानों के नेता थे, पूरी उत्तरप्रदेश के नेता थे… यूपी का कोई ऐसा जिला न था जहां उनका जनाधार न हो…

उनके होनहार बेटे चौधरी अजीत सिंह ने उनकी पार्टी को सिर्फ और सिर्फ जाटों की पार्टी बना दिया. जो कभी पूरे यूपी के नेता हुआ करते थे, उनकी पार्टी आज बागपत जिले की 3 सीटों तक सिमट गयी है.

आज अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुला के अपने विधायकों, मंत्रियों, और पदाधिकारियों के बल पर बेशक पार्टी पर कब्जा कर लिया हो, पर इस तरह पार्टी पर तो कब्जा किया जा सकता है, लोगों के दिलों पर नहीं.

जो समाजवादी पार्टी कल तक गाँव के गरीब गुरबा की पार्टी हुआ करती थी वो आज सिर्फ और सिर्फ अहीरों की पार्टी बन गयी है.

यूपी में कहीं भी निकल जाइए, सड़क किनारे लगे एक बड़े से होर्डिंग में एक यादव, कोई सिंटू जादो, मिंटू जादो टाइप… झांकता मिल जाएगा…

यूँ… मानो अभी उस होर्डिंग से निकल के आपकी छाती पर चढ़ जाएगा… आपके घर, जमीन, जायदाद पर कब्जा कर लेगा…

11 मार्च को उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव का परिणाम आ जाएगा.

11 मार्च के बाद समाजवादी पार्टी ठीक उस दशा को प्राप्त हो जाएगी जिस दशा में आज राहुल गांधी ने कांग्रेस को पहुंचा दिया है.

आज शिवपाल यादव ने कह दिया है… 11 मार्च के बाद कोई नयी पार्टी नहीं बनेगी.

इशारा समझिये… 11 मार्च के बाद इसी समाजवादी पार्टी का वारा-न्यारा होगा.

11 मार्च के बाद देखेंगे कि पार्टी में कितने जादो बचे… कौन सा जादो किस जादो के पीछे गया?

गैर यादव OBC तो भाजपा में चले गए.

यूपी की अगली सरकार गैर यादव ओबीसी की सरकार होगी…. इस चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी इतिहास बन जायेगी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY