एक ऐसे भी नेता जिनसे उनकी पार्टी ही दूरी बना कर रखती है, नमो का रागा पर तंज़

बिजनौर. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के बिजनौर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा.

प्रधानमंत्री ने राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि एक ऐसे भी राजनेता हैं जिनसे उनकी पार्टी भी दूरी बनाकर चलना पसंद करती है. उनके बोलचाल का तरीका और वह ऐसी ऐसी हरकतें करते हैं कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी उनसे 10 फुट दूर रहना पसंद करते हैं.

रैली में मौजूद अपार जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा ‘अगर आप गूगल करेंगे तो इस कांग्रेस नेता से ज्यादा किसी भी और राजनेता पर चुटकुले नहीं बने होंगे.’

उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश में परिवर्तन की आंधी चल रही है. जिसको राजनीति का ‘र’ भी समझ नहीं आता उन्हें भी पता चलता है कि ये आंधी नहीं तो क्या है.

साथ ही प्रधानमंत्री ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कांग्रेस के साथ गठबंधन के फैसले पर भी सवाल उठाया. उन्होंने पूछा, जिस नेता से कांग्रेस के बड़े-बड़े नेता किनारा करते हैं, अखिलेश जी आपने उसे गले लगा लिया. कोई बड़ी से बड़ी ग़लती कर सकता है पर ऐसी ग़लती नहीं कर सकता. मुझे आपके विवेक पर संशय हो रहा है.

प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव को चुनौती देते हुए कहा, 11 मार्च को चुनाव के नतीजे आपका कच्चा चिट्ठा खोल देंगे. इस पर जांच बिठाई जाएगी और आप अपने वफ़ादारों को बचा नहीं पाओगे, लिख कर रखो.

उन्होंने कहा, समाजवादी पार्टी, पार्टी नहीं कुनबा है. और ये दो पार्टियों का नहीं दो कुनबों का है- एक सैफ़ई वाला कुनबा और एक दिल्ली वाला कुनबा. सैफ़ई गांव के एक परिवार से सिर्फ़ नेता ही नेता हैं. प्रदेश में एक तरफ 2000 गांवों पर एक एमपी है. लेकिन एक गांव ऐसा है जिस गांव में से एमपी, एमएलए और एमएलसी ही हैं.

उप्र में बढ़ाते अपराधों का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा, प्रदेश में दिन ढलते ही नहीं, दिन रहते भी मां-बहनें बाहर नहीं निकल सकतीं. महिलाओं की सुरक्षा की बात करें तो यूपी के मुख्यमंत्री मीडिया को ग़लत छवि दिखाने के लिए ज़िम्मेदार ठहराते हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चौधरी चरण सिंह की सरकार के बाद अब दिल्ली में ऐसी सरकार आई है जिसने खाद के दाम कम करने का फ़ैसला किया. हम चौधरी चरण सिंह किसान कल्याण कोष बनाएंगे. भाजपा की सरकार बनी तो छोटे किसानों के कर्ज़ माफ़ कर दिए जाएंगे, ये किसानों का काम मैं सबसे पहले करवा कर रहूंगा.

इससे पहले पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर भी संसद में निशाना साधा था. उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसते हुए कहा था कि बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना मनमोहन सिंह से सीखें.

पीएम मोदी ने कहा कि 30-35 सालों से आर्थिक फैसलों में मनमोहन सिंह की भूमिका रही. इतने घोटाले सामने आए लेकिन मनमोहन सिंह पर दाग नहीं लगा. मनमोहन पर प्रधानमंत्री की टिप्पणी के बाद कांग्रेस के सभी सांसद सदन से भाग खड़े हुए थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY