मुद्दा भटकाइये मत छोटी बहू!

श्रीमती साधना गुप्ता और श्री मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू श्रीमती अपर्णा यादव… जो लखनऊ कैंट विधानसभा सीट पर… उनके बड़े बेटे अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ रही हैं… कहती हैं : आरक्षण आर्थिक आधार पर होना चाहिए.

मुद्दा भटकाइये मत छोटी बहू!

आपके ससुर जी उत्तर प्रदेश में ओबीसी राजनीति और 27% ओबीसी आरक्षण के ठेकेदार रहे हैं.

आप पहले इस बात का जबाब दीजिये : नौकरियों में अवसर की समानता के लिए मिले संवैधानिक 27% ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) को मिले आरक्षण में बाकी ओबीसी जातियां कहाँ है?

केवट, मल्लाह, धोबी, बनिया, तेली, कुम्हार, पटेल, कुर्मी, लोहार, बढ़ई, नाउ आदि जैसी तमाम हकदार पिछड़ी जातियां यह सवाल पूछ रही हैं : ओबीसी के 27% वाले जातिगत आरक्षण में उनकी जगह कहाँ गयी? किसने हक मारा उनका?

क्या ओबीसी और दलित आरक्षण की सभी जातियां अवसर में समानता पा गयीं उत्तर प्रदेश में?

सपा के साथ गठबंधन कर यूपी चुनाव में उतरने वाली कांग्रेस इस जातिगत आरक्षण को खत्म करने की समाजवादी छोटी बहू के बयान पर क्या कहती है! ये बताएं राहुल गांधी.

छोटी बहू! आप उस यादव परिवार से आती हैं जिसने उत्तर प्रदेश की ओबीसी राजनीति में अकेले “कंटिया” मार कर अपने को इतना मजबूत कर लिया है… कि आप आज आरक्षण आर्थिक आधार पर करने के ज्ञान बाँट रही हैं. आपकी मानसिक, सामाजिक और आर्थिक स्थिति समझी जा सकती है.

आरक्षण संवैधानिक अधिकार है कोई भीख नहीं, इसे खत्म करने की किसी बात से पहले जवाब दीजिये : 27% ओबीसी आरक्षण के अधिकारों को यूपी में अब तक किसने लूटा?

भरे पेट को डकार और उबासी दोनों आती है : भारतीय समाज के नवसामंतों!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY