वामपंथियों के पितृ पुरुष कार्ल मार्क्स के काले कारनामे

0
298
Karl Marx Helene Demuth henry frederick son of karl marx making india

कार्ल मार्क्स जब अपनी नौकरानी हेलेन डेमथ को गर्भवती कर बैठे तो उस समय तक वो ब्रुसेल्स में कम्युनिस्ट लीग का मैनिफेस्टो लिख चुके थे. कर्मठ, सरल, व अत्यंत भीरु स्वाभाव की नौकरानी हेलेन – जिसका नाम ‘लेन्चेन’ भी था – जब गर्भवती हो गयी तो मार्क्स ने इसे अपनी पत्नी जेनी और अपने मित्रों से छुपाने की कोशिश की.

23 जून 1851 को सोहो निवास पर जब नौकरानी ने मार्क्स के उस बच्चे का जन्म दिया तो बदनामी के भय से मार्क्स ने आनन फानन में उस बच्चे को उसकी माँ से अलग कर लेविस नाम के एक श्रमिक के घर भिजवा दिया. मार्क्स की पत्नी जेनी उनकी इन हरकतों पर क्षोभ से भर गयी जिसका इज़हार जेनी ने आगे जा कर अपनी आत्मकथात्मक लिखत में किया.

इस घटना से कुछ लोगों के अवगत हो जाने पर मार्क्स खीझ उठे जिसका उद्दगार उन्होंने अपने मित्र जोसफ वेदेमर को 2 अगस्त 1851 को लिखे अपने पत्र में किया. मार्क्स ने अपने सबसे गहरे मित्र एंगेल्स से भी विनती की कि वो इस बच्चे को अपना नाम दे दें.

हेनरी फ्रेडरिक नामक उस बच्चे को भविष्य में मार्क्स के घर अपनी नौकरानी-माँ से कभी कभी मिलने आने देने की अनुमति तो दी गयी लेकिन केवल पिछले दरवाजे से और केवल रसोई घर में. मार्क्स नहीं चाहते थे कि किसी को भी ये पता चले कि वे उस बच्चे के पिता हैं. इसीलिए मार्क्स ने नौकरानी से हुए अपने उस बच्चे से जीवन भर मिलना तक गवारा नहीं किया; केवल एक बार संयोगवश कुछ लम्हों के लिए दोनों का आमना-सामना हुआ था.

मार्क्स के सबसे गहरे मित्र एंगेल्स ने भी 5 अगस्त 1895 के दिन अपनी मृत्यु के वक्त अपनी सचिव लुईस फ्रेबेर्गर को लिख कर ये बताया, “फ्रेडी मार्क्स का बेटा है. तुस्सी (मार्क्स और जेनी की बेटी) बेकार में ही अपने पिता मार्क्स को आदर्श व्यक्ति समझती है.”

बाद में लुईस फ्रेबेर्गर ने जर्मनी के प्रसिद्ध ‘सोशलिस्ट’ औगस्ट बेबेल के साथ 2 सितम्बर 1898 के और अन्य पत्राचारों में ये लिखा कि एंगेल ने उसे मार्क्स की ये सारी बातें बतायी थीं.

बाद में मार्क्स की पुत्री एलिनोर ने भी इस सच्चाई पर प्रकाश डाला. एक सीधी सादी नौकरानी से पैदा हुआ फ्रेडी अपने बाप मार्क्स से दूर रह कर श्रमिक परिवार में ही पला बढ़ा और ‘इन्जीनीयर-फिटर’ बना. फ्रेडी आजीवन अपने बाप मार्क्स द्वारा ना अपनाए जाने का दुःख झेलते हुए सन 1929 में मृत्यु को प्राप्त हुआ.

सन्दर्भ :

(1) World renowned biographer Robert Payne’s written famous biography “Marx”,

(2) Preserved in Mosco’s Marx-Engel-Lenin Institute, Jenny Marx’s Autobiographical Sketch,

(3) An earlier time Left sympathizer and famous historian Paul Johnson’s “Intellectuals”

(4) Famous Marxist historian and a communist, Maximilen Rubel’s “Marx : Life and works”,

(5) “Letters of Karl Marx” (Ed, Saul K Padover who is regarded as having conducted an extensive research and study on Marx)

(6) well known biographer and author of “A beautiful Mind” fame Sylvia Nasar’s “Grand Pursuit”

(7) W Blumenberg’s “Karl Marx : An illustrated Biography

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY