वीडियो : आज पूरी दुनिया कर रही हिंदुस्तान की जय जयकार, गोवा में बोले पीएम

पणजी. गोवा में विधानसभा चुनाव के लिए आगामी 4 फरवरी को होने जा रहे मतदान के पहले प्रधानमंत्री ने शनिवार को एक रैली को संबोधित किया.

पीएम मोदी ने कहा, आज दुनिया देख रही है कि हिंदुस्तान में वर्षों के बाद एक ऐसी सरकार आई है कि जिसमें हिम्मत है और हिम्मत से फैसले भी ले रही है. आज पूरी दुनिया में हिंदुस्तान का जय जयकार हो रहा है.

उन्होंने कहा, अमेरिका, जापान, चीन, श्रीलंका, नेपाल में जय जयकार हो रहा है. इसकी वजह मोदी नहीं है. यह सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों की पूर्ण बहुमत वाली सरकार की वजह से हो रही है.

गोवा के मतदातों को आश्वस्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले पांच साल में जो काम पचास साल में नहीं हुआ वो मुझे गोवा में करके दिखाना है.’

पीएम मोदी ने कहा, गोवा को काफी वक्त से एक बीमारी लगी हुई है. यह चुनाव गोवा को उस बीमारी से मुक्ति दिलाएगा. यह बीमारी अस्थिरता की बीमारी है. साल 1990 से 2000 के बीच गोवा को एक दर्जन से ज्यादा मुख्यमंत्री देखने को मिले. हमेशा यह ही रहता था कि मुख्यमंत्री कब शपथ लेगा.

उन्होंने कहा, मैं आपसे वादा करता हूं कि आप हमें कम्फर्टेबल मेजोरिटी देंगे और हम गोवा को देश का सबसे कंफर्टेबल स्टेट बनाएंगे.

उन्होंने कहा, जितनी केंद्र सरकारों ने 50 सालों में गोवा की मदद की है, उससे ज्यादा मदद हमने केवल 25 महीने में की है. अराइवल वीजा, ऑनलाइन ई-वीजा और अन्य ऐसी सुविधाएं पर्यटकों को दी जा रही है. गोवा को इससे बहुत फायदा हुआ और इससे यहां पर पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ.

आप 4 फरवरी को मतदान करेंगे. गोवा का दुर्भाग्य है कि अच्छा करने वाले नेताओं की बजाए दूसरों का कूड़ा करने वाले नेताओं की संख्या है. वोट काटने वाले लोग लोकतंत्र की जेब काट लेते हैं. ये लोकतंत्र के जेबकतरे हैं. ये किसी का भला नहीं चाहते. लोकतंत्र को नीचे दिखाने का काम करते हैं.

पीएम ने कहा, ‘फरवरी को देश का बजट आने वाला है. कुछ पार्टियां अभी से बैठी हैं. ग्राफ बना रहे हैं कि एक फरवरी को भारत का बजट आएगा, हम उसकी आलोचना कैसे करेंगे. जैसे ही बजट आए हम लोग केंद्र पर हमला कर देंगे कि गोवा, यूपी, पंजाब, मणिपुर और उत्तराखंड में एक मैसेज चला जाए कि कुछ नहीं मिला. जितनी मेहनत वित्तमंत्री बजट बनाने में कर रहे हैं. उससे ज्यादा उसकी आलोचना करने वाले कर रहे हैं. यह लोकतंत्र के लिए गलत है.’

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY