अच्छा हुआ लाल किला-ताजमहल पहले बन गया, वरना मोदी लेते श्रेय! ओवैसी की चुटकी

सहारनपुर. एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने सहारनपुर में प्रधानमंत्री पर पुरानी योजनाओं का श्रेय लेने का आरोप लेते हुए जमकर चुटकी ली. उन्होंने कहा कि ‘अगर ताजमहल और लाल किले का निर्माण सालों पहले नहीं हुआ होता तो वह (मोदी) उनका भी श्रेय ले लेते.’

सहारनपुर के गांधी पार्क में आयोजित सार्वजनिक रैली में ओवैसी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कि ”हर किसी को पता है कि चरखा दोनों हाथों से चलता है लेकिन मोदी उन तस्वीरों में एक ही हाथ से चरखा चलाते दिख रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि ‘खुशकिस्मती से लाल किला और ताज महल का निर्माण सालों पहले हो गया था नहीं तो प्रधानमंत्री ने उनका भी श्रेय ले लिया होता.’

ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गांधी की चरखे वाली तस्वीर पर अपनी फोटो लगा कर ‘नरेंद्र बापू’ बनने की कोशिश की. ओवैसी के मुताबिक देश में जल्दी ही 2000 के नोटों को भी सरकार की ओर से बंद किया जा सकता है.

उन्होंने मोदी सरकार पर हर साल एक करोड़ रोजगार देने के वायदे पर खरा ना उतरने का भी आरोप लगाया. ओवैसी के मुताबिक केंद्र सरकार महंगाई को कम करने में भी नाकाम रही है. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी को नोटबंदी के चलते यूपी में कराबरी हार का सामना करना पड़ेगा.

ओवैसी ने उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार पर भी खूब प्रहार किए. उन्होंने पूछा कि अखिलेश यादव ने क्या विकास किया है? सीएम पर सिर्फ यादव परिवार के विकास का आरोप लगाते हुए उन्होंने चुटली कि यादव परिवार में बच्चे के जन्म लेते ही उसका टिकट फाइनल हो जाता है.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का किसान बेहाल है लेकिन सैफई में हर साल में नाचगाना होता है. इलाज के अभाव में प्रदेश में मासूम बच्चे जहां दम तोड़ते हैं, वहीं अखिलेश के शेरों के इलाज के लिए लंदन से डॉक्टर बुलाए जाते हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY