अखिलेश का गुट ही समाजवादी पार्टी, चलती रहेगी साइकिल

amar-singh-mulayamsingh-akhilesh-shivpal-yadav-making-india

नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने उप्र के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के गुट को ही समाजवादी पार्टी मानते हुए सोमवार को पार्टी का चुनाव चिह्न साइकिल बहाल रखने का निर्णय दिया.

मानने वाले इसे मुलायम सिंह यादव के लिए बड़ा झटका मानते रहें पर ये असल में मुलायम की अपने पुत्र के मार्फ़त पार्टी पर पकड़ बनाए रखने की बड़ी कामयाबी है.

चुनाव आयोग का कहना है कि अखिलेश को 50 प्रतिशत से ज्यादा पदाधिकारियों का समर्थन है. चुनाव आयोग ने अखिलेश गुट को ही असली समाजवादी पार्टी माना है.

गौरतलब है कि चुनाव चिह्न साइकिल को लेकर मुलायम सिंह को सामने रखते हुए शिवपाल यादव और अमर सिंह गुट का मुलायम समर्थित (गुप्त रूप से) अखिलेश गुट से विवाद था और दोनों गुट साइकिल निशान पर दावे को लेकर चुनाव आयोग पहुंचे थे.

चुनाव आयोग के निर्णय पर अखिलेश गुट के सिपहसालार रामगोपाल यादव ने कहा, ‘चुनाव आयोग ने अखिलेश के पक्ष में फैसला दिया है. ईसी ने अखिलेश गुट को ही असली समाजवादी पार्टी माना है. हम लोग एक-दो दिन में उम्मीदवारों की सूची जारी करेंगे.’

समाजवादी पार्टी प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि अखिलेश के नेतृत्व पर जो प्रश्नचिह्न लगा था वह चुनाव आयोग के फैसले के बाद अब हट गया है.

राम गोपाल यादव ने संकेत दिया कि यूपी विधानसभा चुनाव के लिए सपा महागठबंधन करेगी लेकिन उन्होंने कहा कि इस पर अंतिम फैसला अखिलेश यादव करेंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY