विकास की आड़ में हिंदुत्ववादी कैडर दुबकने लगा तो यूपी में ढूंढे भी न मिलेगा कमल

पिछड़ी जाति से आने वाले दबंग हिन्दू संत साक्षी महाराज ने कुछ बातें कही हैं.

मसलन तीन तलाक, चार बीवियाँ और जनसँख्या वृद्धि दर जैसी साम्प्रदायिक किस्म की बातें…

साक्षी महाराज ने जो नहीं कहा है, हिन्दू समाज द्रोही मीडिया ने उसे अपने मन से जोड़ दिया है.

साक्षी महाराज से हमारी भी कई शिकायतें हैं पर यह वक़्त डिफेंसिव होने का नहीं है.

साक्षी महाराज का कल का बयान बिलकुल सही है, बिलकुल नैतिक है.

हाँ, पॉलिटिकली इनकरेक्ट भले ही लग रहा हो, यह बयान ललकार है.

कथित विकास की आड़ लेकर यदि ऐसे विषयों पर हिंदुत्ववादी कैडर दुबकने लगेगा तो यूपी में तो कमल ढूँढने से भी नहीं मिलने वाला है.

कथित प्रशासन में दम हो तो साक्षी महाराज जी पर कार्यवाही करके इन विषयों पर खुली बहस करवाये.

हिन्दू समाज को अब विकास की आड़ लेकर पॉलिटिकली करेक्टनेस के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए.

खुली और दमदार बातें होनी चाहिए, हिन्दू समाज दम दिखाए जीत अपने आप मिलेगी…

2014 मोदी – 2016 ब्रेक्सिट – 2016 ट्रम्प इन सभी ने दिखाया है कि दोगली और सुविधानुसार तुष्टिकरण की दोगली बातें करने वालों को समाज धूल चटाने में पूर्ण सक्षम है.

मेरा यूपी के कार्यकर्ताओं से आग्रह है कि जब तक कोई रामजादे – हरामज़ादे जैसी मर्यादा न लांघे तब तक हिंदुत्व के मुद्दों पर बहस में डिफेंसिव ना हों….

राम जी की जय

वरुण कुमार जायसवाल

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY