ओम पुरी कह गए ‘जाने भी दो यारों…’

मुंबई. देश के गिने-चुने ‘अभिनेताओं’ में शामिल ओम पुरी महज़ 66 साल की उम्र में हमारे बीच से चले गए. शुक्रवार सुबह उनकी मौत की खबर आई. उनकी मौत की वजह दिल का दौरा पड़ना बताया जा रहा है.

ओम पुरी उन चंद कलाकारों में से एक थे जिन्होंने समानान्तर सिनेमा से लेकर कमर्शल सिनेमा तक में कामयाबी हासिल की. उनकी मौत की खबर सुनकर उनके फैंस सकते में हैं.

ओम पुरी ने हॉलिवुड में भी काम किया. ओम पुरी का जन्म अंबाला के एक पंजाबी परिवार में हुआ था. 1993 में ओम पुरी ने नंदिता पुरी के साथ शादी की थी. 2013 में उनका तलाक हो गया था. उनका इशान नाम का एक बेटा भी था.

ओम पुरी ने बॉलिवुड के अलावा ब्रिटेन और अमेरिका की भी फिल्मों में काम किया. ओम पुरी और नसीरुद्दीन शाह फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिट्यूट पुणे में एक साथ पढ़ाई कर चुके हैं.

ओम पुरी की मौत पर एक्टर्स रजा मुराद ने दुख जताया है. मुराद के मुताबिक, बेहद आम शक्ल सूरत होने के बावजूद ओम पुरी ने अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया. अभिनेता अनुपम खेर ने भी ट्वीट करके इस पर दुख जताया है.

ओम का फ़िल्मी सफर मराठी नाटक पर आधारित फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से हुआ. वर्ष 1980 में रिलीज फिल्म “आक्रोश” ओम पुरी के सिने करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुई. ‘जाने भी दो यारों’, ‘अर्धसत्य’ उनकी बेहद सफल और चर्चित फ़िल्में थी. इस के अलावा भीष्म साहनी के उपन्यास तमस पर बने धारावाहिक से वे घर-घर में पहुंचे.

‘नासूर’, ‘मेरे बाप पहले आप’, ‘देहली 6’, ‘मालामाल वीकली’, ‘डॉन’, ‘रंग दे बसंती’, ‘दीवाने हुए पागल’, ‘क्यूँ! हो गया ना’, ‘काश आप हमारे होते’ और ‘प्यार दीवाना होता है’ जैसी सैकड़ों फिल्मों में नज़र आ चुके हैं.

पिछले साल रिलीज हुई फिल्म ‘द जंगल बुक’ में ओम पुरी ने बघीरा को अपनी दमदार आवाज दी थी जिसे काफी पसंद किया गया था.

इसके अलावा पिछले साल ओम पुरी फिल्म ‘एक्टर इन लॉ’ में नजर आए थे. नबील कुरैशी निर्देशित उनकी ये उर्दू फिल्म 13 सितंबर को रिलीज हुई थी. ओम पुरी, सलमान की फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ में भी नज़र आने वाले थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY