सेवा और श्रेष्ठ जीवन मूल्यों की स्थापना की मिसाल है गुरु गोबिंद सिंह का जीवन, बोले PM

0
35
modi patna prakashotsav
PM Modi Prakashotsav

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से गुरू गोबिंद सिंह जी महाराज के बताये रास्तों पर चलने का आह्वान करते हुए जीवन में उच्च नैतिक मूल्यों और आदर्शों को अपनाने की जरूरत पर बल दिया है.

आज पटना के गांधी मैदान में श्री गुरूगोबिंद सिंह जी महाराज के तीन सौ पचासवें प्रकाशोत्सव पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी का पूरा जीवन लोगों की सेवा और श्रेष्ठ जीवन मूल्यों की स्थापना के लिये समर्पित  रहा. उन्होंने कहा कि समाज में भाईचारा, सामाजिक समरसता और सर्वपंथ समभाव की स्थापना के लिये गुरू गोबिंद सिंह जी ने अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया.

उन्होंने कहा कि वे इस प्रकाशोत्सव का हिस्सा बनकर खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने राज्य में शराबबंदी के साथ-साथ नशाबंदी के लिये उठाये गये कदमों के लिये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रशंसा की. इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने प्रकाश पर्व पर आधारित विशेष डाक टिकट का लोकार्पण किया.

इससे पूर्व श्री मोदी ने गांधी मैदान में बने अस्थायी गुरूद्वारे में स्थापित गुरूग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका.

समारोह में पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने गुरू गोबिंद सिंह जी के जीवन इतिहास पर प्रकाश डालते हुए लोगों से जातपात से ऊपर उठकर देश निर्माण में भाग लेने की अपील की. उन्होंने कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी ने त्याग, बलिदान और सत्य, निष्ठा की जो मिसाल पेश की वह लोगों को हमेशा प्रेरित करता रहेगा.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रकाश पर्व में भाग लेने आये श्रद्धालुओं का स्वागत करते हुए कहा कि बिहार की भूमि ज्ञान और मोक्ष की भूमि रही है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गुरू सर्किट का विकास करेगी जिसके माध्यम से राज्य के सभी प्रमुख गुरूद्वारों को जोड़ा जायेगा. उन्होंने प्रकाश पर्व को यादगार बनाने के लिये गुरू का बाग, पटना सिटी में बहुउद्देश्यीय प्रकाश केन्द्र और उद्यान की स्थापना की घोषणा की.

श्री कुमार ने कहा कि बिहार की धरती प्रकाश पर्व में शामिल लोगों की सेवा कर खुद को धन्य मान रही है. उन्होंने शराबबंदी की चर्चा करते हुए कहाकि तीन सौ पचासवें प्रकाश पर्व पर हमें समाज को नशामुक्त बनाने की शपथ लेनी चाहिए.

समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी का व्यक्तित्व वीरता, धीरता, विद्वता और विनम्रता का अद्भुत संगम था. उन्होंने पूरी दुनिया को जाति, समाज और रंगभेद से ऊपर उठकर मानवता की सेवा का मूलमंत्र दिया.

समारोह में केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, रामविलास पासवान, हरसिमरत कौर के साथ-साथ राज्य मंत्रिमंडल के कई सदस्य उपस्थित थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY