पार्टी दफ्तर पर टीएमसी के हमले के बाद राज्यपाल से मिलेंगे भाजपा नेता

कोलकाता. चिटफंड घोटाले में ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के एक और सांसद की गिरफ्तारी से भड़के कथित टीएमसी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को भाजपा दफ्तर पर हमला कर दिया.

पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ के साथ इस हमले में कई लोग भी घायल हुए हैं. हमले के बाद भाजपा कार्यालय में सीआरपीएफ की तैनाती कर दी गई है. वहीं आज भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केएन त्रिपाठी से मुलाकात करेगा.

चिटफंड घोटाले में ममता बनर्जी की पार्टी के चौथे सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय को मंगलवार को सीबीआई ने पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद कोलकाता में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष की कार पर हमला किया गया, जबकि प्रदेश भाजपा मुख्यालय पर भी पथराव किया गया. इस हमले में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है.

वहीं टीएमसी की तरफ से एक और राजनीतिक दांव खेलते हुए गिरफ्तार टीएमसी सांसद सुदीप बंदोपाध्याय की पत्नी ने सीबीआई के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. सीबीआई पर सुदीप बंदोपाध्याय को जान से मारने की कोशिश की शिकायत दर्ज कराई गई है. सुदीप बंदोपाध्याय की पत्नी ने बिधाननगर थाने में ये शिकायत दर्ज कराई है.

वहीं टीएमसी सुप्रीमो और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि हिम्मत है तो उन्हें गिरफ्तार करें. ममता ने गिरफ्तारी को बदले की राजनीति करार दिया है. उन्होंने मोदी सरकार के खिलाफ राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन की घोषणा की है.

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है और पुलिस तृणमूल कांग्रेस के कैडर की तरह काम कर रही है.

सिंह ने कहा, हमारे इतने कार्यकर्ता जख्मी हुए हैं और पुलिस महज मूकदर्शक बनी हुई है. यह सिर्फ दर्शाता है कि पुलिस सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता की तरह काम कर रही है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY