कुछ भी कह दो, मरा हुआ हिटलर थोड़े ही आने वाला है वामियों को झुठलाने!

फासीवादी याने Fascist कौन होता है और फासीवाद याने Fascism क्या होता है… यह अगर किसी से पूछेंगे तो तुरंत हिटलर और उसके नाज़ियों का नाम दिया जाएगा.

क्यों?

क्योंकि उनको फासीवादी कहा जाता है.

कौन कहता है?

चिंता न करें, इस गलतफहमी के प्रसार का मूल सोर्स वामपंथी ही हैं.

क्या आप को हिटलर की राजनैतिक विचारधारा पता है? क्या उसकी नाज़ी पार्टी का असली नाम पता है?

The full name was the National Socialist German Workers’ Party (National Sozialistische Deutsche Arbeiter Partei or NSDAP) called for short, Nazi.

मतलब ‘राष्ट्रीय समाजवादी जर्मन मजदूर पक्ष’. कहाँ से फासीवाद आया इसमें?

और एक मज़े की बात है. Duce कौन था पता है? यह बेनिटो मुसोलिनी का टाइटल था.

मुसोलिनी इटली के तानाशाह थे और विश्व युद्ध में हिटलर के सहभागी. इनकी पार्टी का नाम था National Fascist Party (Partito Nazionale Fascista’ PNF).

यानी डंके की चोट पर फासीवादी थे तो मुसोलिनी, हिटलर तो समाजवादी थे. वैसे नाजी पार्टी में भी एक दूसरे को कामरेड (kamerad) ही कहा जाता था.

कभी इनका 25 मुद्दों वाला चुनावी घोषणापत्र पढ़िये, वामियों से पूछने के लिए कई सवाल मिलेंगे. NSDAP Manifesto गूगल करिए, मिल जाएगा.

कभी किसी वामी को यह बताते देखा है? नहीं बताएँगे कि हिटलर भी समाजवादी था. इसका कारण समझने में आसान है. क्योंकि अगर ये बता देते हैं तो सवाल उठता है – भाई किसका वाद अच्छा है – उसका समाजवाद अच्छा है या आप का साम्यवाद?

बात तुरंत शिया का इस्लाम, सुन्नी का इस्लाम या अल्लाह का इस्लाम और मुल्ला का इस्लाम वाली जैसी हो जाएगी.

वामी यह कभी नहीं चाहता कि आप उससे उसकी विचारधारा को लेकर सवाल करें तथा किसी और के साथ तुलना करे.

इससे तो झूठ बोलकर हिटलर को फासीवादी कह देना आसान है, मरा हुआ हिटलर थोड़े ही आने वाला है इनको झुठलाने?

बाकी केवल तानाशाही की बात करें तो प पू लेनिन जी, प पू स्टेलिन जी, प पू ख्रुश्चेव जी, प पू कास्त्रो जी, प पू माओ जी, प पू पोल पोट जी आदि कौन से लोकतान्त्रिक थे? उनके कार्यकाल में कितनी हत्याएँ हुई? करोड़ों को मारा इन्होंने भी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY