Right time is NOW, Right place is HERE, Right person to do it is YOU

0
22

साल दर साल अगर आपका न्यू ईयर रेज़ोल्यूशन फ़ेल हो रहा है तो शायद दोबारा सोचने की जरुरत है. अगर मनोचकित्सकों की बात सुनें तो वो कुछ साधारण सी चीज़ों पर ध्यान दिलाते हैं.

सबसे पहली बात ये होती है कि इंसान खुद अपनी कमज़ोरियाँ और ताकत दोनों से वाकिफ होता है. पहली सीढ़ी से सीधा सौंवी सीढ़ी पर कूद जाने की योजना, फेल हो जाने वाली योजना होती है. अपनी लिमिट को थोड़ा सा चेलेन्ज कीजिये, साल बहुत बड़ा होता है, थोड़ा थोड़ा करके आगे बढ़ने की योजना के कामयाब होने की संभावना ज्यादा है.

दूसरी बात ये है कि सेहत का मामला हो, पैसे का मामला हो, या फिर रिश्तों का, इनकी कोई समय सीमा भी नहीं होती, ना ही आप ये कह पाएंगे कि इतना काफी है, बस अब और नहीं चाहिए. इसलिए अपनी बनाई डेड लाइन फ़ेल होती भी दिखे तो कोशिश छोड़ने की जरुरत नहीं है.

तीसरा सलाह का मामला है, किसी से पूछ लेना कि गलती कहाँ हो रही है, हमेशा अच्छा होता है. (हम अपने कमरे का आइना इस्तेमाल कर लेते हैं.) अगर किसी दोस्त या रिश्तेदार से बीच-बीच में पूछ सकें तो सुधार करना और भी आसान होगा.

चौथी बात ये कि किसी भी प्लान के साथ contingency (आकस्मिकता) के प्रावधान होते हैं. हर बजट में रिज़र्व होता है. साल के बीच में अगर किसी शादी में जाना पड़ गया तो आपका वजन कम करने की योजना डगमगा जाएगी. ऐसी स्थिति में क्या करना है उसके लिए भी सोच लीजिये.

आखिरी चीज़ है कि अगर अप्रैल में कोई पसंद आ गई तो उसे गुलाब देने के लिए अगली 14 फ़रवरी तक इंतज़ार करेंगे क्या? नहीं करेंगे! तो फिर साल के बीच में कुछ अच्छा याद आने पर अगली 1 जनवरी का इंतज़ार करने की क्या जरुरत है?

जब याद आये उसी समय शुरू कीजिये, Right time is NOW, Right place is HERE, Right person to do it is YOU.

इंडिया टाइम्स में डॉक्टर समीर पारीख से हुई बातचीत के ये मुख्य हिस्से थे, जिसमें हमने अपनी मर्ज़ी के शब्द घुसेड़ दिए हैं.

अंग्रेजी की कई वेबसाइट इस तरह के लेख छापती है, हिंदी वालों का ध्यान फ़िलहाल सनी लिओन पर है इसलिए इसे हिंदी में हमने सहेज लिया है. अगले साल जब फेसबुक इसे मेमोरी में दिखायेगा तो देखेंगे इस साल वाली मेरी कितनी योजनाएं कम प्रयासों की वजह से डूबी. तब तक सभी बन्धु-बान्धवों को नए साल की शुभकामनायें, और जिन्होंने रेज़ोल्यूशन भी बनाये हैं उन्हें ऑल द बेस्ट!!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY