पीएम की नए साल की पहली रैली लखनऊ में, 10 लाख लोग होंगे शामिल

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए साल में पहली राजनैतिक रैली उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में सोमवार को कर रहे हैं. विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र भाजपा द्वारा की जा रही परिवर्तन रैली की श्रृंखला में इस रैली का आयोजन हो रहा है.

भाजपा इस रैली को ऐतिहासिक बनाने में जुटी है. उसका दावा है कि लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में होने वाली मोदी की रैली में 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ता शामिल होंगे. यह जनसभा देश में अब तक हुई रैलियों में सबसे बड़ी होगी.

स्वाभाविक रूप से उम्मीद की जा रही है कि इस रैली में पीएम मोदी प्रदेश के सत्तारूढ़ दल में मची घमासान पर अपनी चिर-परिचित शैली में वार करेंगे. पीएम इस मौके पर यूपी चुनाव के लिए भाजपा के एजेंडे का खाका भी खींचेंगे, जिसे कार्यकर्ता नीचे तक ले जा सकें. साथ ही नोटबंदी, कैशलेस लेन-देन, पर बोलने के साथ प्रदेश की जनता के लिए रियायतों की घोषणा किए जाने की संभावना है.

पीएम के साथ मंच पर राजनाथ सिंह, स्मृति इरानी, उमा भारती, कलराज मिश्र सहित यूपी कोटे के सभी मंत्रियों के अलावा कई और दिग्गज मौजूद रहेंगे. संगठन से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी प्रभारी ओम माथुर और प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य भी मंच पर होंगे.

बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव के लिए अधिसूचना जल्द जारी होने की संभावना के बीच प्रधानमंत्री पार्टी प्रत्याशियों की सूची पर भी कुछ कह सकते हैं. भाजपा यह चुनाव मोदी के भरोसे ही जीतना चाहती है क्योंकि मुख्यमंत्री उम्मीदवार तय किए जाने से गुटबाजी की संभावना है.

इसके अलावा मोदी की इस रैली के लिए भाजपा के आईटी विभाग ने भी जबर्दस्त तैयारी की है. विभाग ने रैली स्थल पर 250 साइबर योद्धा तैनात किए हैं. 150 साइबर योद्धा प्रदेश के 6 अलग-अलग क्षेत्रों (गोरखपुर, काशी, अवध, कानपुर, बृज और पश्चिम) से होंगे. वहीं 100 आईटी विभाग के होंगे.

मोदी की रैली का फेसबुक पर सीधा प्रसारण करने की व्यवस्था भी की गई है. ट्विटर पर रैली की लाइव ट्रेडिंग भी चलती रहेगी. आईटी विभाग के प्रमुख संजय राय ने बताया कि सोशल मीडिया पर केवल मोदी की रैली की ही चर्चा होगी. इसके लिए साइबर योद्धाओं ने तैयारी पूरी कर ली है.

प्रधानमंत्री की रैली के मद्देनजर सुरक्षा चाक-चौबंद रहेगी. केंद्रीय सुरक्षा बलों की 20 कंपनियों और पीएसी की आठ कंपनियां तैनात की जाएगी, जबकि पांच पुलिस अधीक्षक, 10 अपर पुलिस अधीक्षक और 20 उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी रैली के दौरान चप्पे-चप्पे पर कड़ी नजर रखेंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY