दूर से देख रहा है चारे पर ‘नज़र’ रखने वाला एक यादव

ने को निकाल दिया.

फिर वापिस ले लिया तो ने को निकाल दिया.

ने को ही निकाल दिया.

फिर सब इकठ्ठा हो गये.

सब अन्दर हो गये.

तो से तक इकठ्ठा हो गये.

सबने एक साथ कहा हमारे मूल अक्षर है.

पर उनके साथ के और के साथ साथ प, फ आदि कुछ है, उनको निकाल रहे है.

अब मुखिया होगा.

अब से क्ष तक इकठ्ठा होंगे.

वह समूह से तक सब को बाहर कर देंगे.

एक ने दूसरे को और दूसरे ने पहले को बाहर कर दिया.

अब अन्दर कोई नहीं.

तो… अब घर का क्या होगा?

घर के भवन पर कब्जा करने के लिए बाहुबल का युद्ध चल रहा है.

जिसकी लाठी उसकी ‘भैंस’, जिसके चारे पर नज़र रखने वाला एक यादव दूर से देख रहा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY