भाजपा के नफे-नुकसान और इशारे पर होगा कांग्रेस और सपा का गठबंधन : मायावती

लखनऊ. कांग्रेस और समाजवादी पार्टी में गठबंधन की अटकलों के बीच बसपा सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि कांग्रेस और सपा का गठबंधन भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है.

मायावती ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा, सपा और कांग्रेस पर सोमवार को हमला बोला. उन्होंने कहा कि इस पर अंतिम फैसला भाजपा के नफा, नुकसान और इशारे पर होगा. मायावती का आरोप है कि कांग्रेस और सपा का गठबंधन भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है.

बीएसपी सुप्रीमो ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कांग्रेस से गठजोड़ करने को लेकर बार-बार दिये जा रहे बयानों का उल्लेख करते हुए सवाल किया कि पिछले विधानसभा चुनाव में अपने दम पर सरकार बनाने वाला व्यक्ति अगले चुनाव में गठजोड़ क्यों करना चाहता है?

उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जा रहा है कि बीजेपी सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव और उनके परिवार पर आय से अधिक संपत्ति के मामलों और अन्य कमजोरियों को लेकर प्रवर्तन निदेशालय, आयकर विभाग और सीबीआई के जरिए दबाव बना रही है कि वह विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ मिलकर लडें, ताकि मुसलमान वोट विभाजित किया जा सके और बसपा को सत्ता में आने से रोका जा सके.

नोटबंदी के मुद्दे पर मायावती एकबार फिर भड़कीं और उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला जल्दबाजी में लिया गया फैसला है, जो अब गले की हड्डी बन गया है.

उन्होंने कहा कि भाजपा ने चोर दरवाजे से पूंजी-पतियों और धन्ना सेठ को बहुत पैसा बहाया है. अपने पक्ष में हवा बनाने के लिए भाजपा ने कुछ स्वार्थी लोगों को तोड़कर अपने पार्टी में शामिल किया और इसका बहुत प्रचार किया.

उन्होंने भाजपा पर झूठे वायदे करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव के दौरान जितने वादे किये, उनमें से एक चौथाई भी पूरे नहीं किये गये हैं, जिसके कारण जनता का भाजपा से मोहभंग हो गया है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY