मोदी को घेरने चले राहुल का दांव कांग्रेस को ही भारी पड़ा, फंसी शीला

created using photoshop

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुत्र राहुल ने जिन दस्तावेजों का ‘सहारा’ लिया, उनसे खुद कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री और यूपी में पार्टी की सीएम कैंडिडेट शीला दीक्षित घिर गई हैं.

राहुल ने पिछले दिनों एक रैली में पीएम मोदी पर गुजरात का सीएम रहते सहारा समूह से रिश्वत लेने के आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा था कि सहारा ने पीएम मोदी को 6 महीने में 9 बार पैसे दिये.

राहुल ने कहा था कि मोदी को 6 महीने में 9 बार में 40 करोड़ रुपये दिये गए. उन्हेंने कहा था कि आयकर विभाग की छापेमारी में जो लिस्ट बरामद की गई उसमें इसका जिक्र है.

इसके बाद कांग्रेस ने अपने ट्वीटर हैंडल पर एक लिस्ट जारी की. जिसके बारे में कहा गया कि ये वही लिस्ट है जिसे आयकर विभाग ने बरामद किया था. लेकिन इस लिस्ट में दिल्ली सीएम के आगे 1 करोड़ रुपया लिखा है.

कांग्रेस के मुताबिक़ ये लिस्ट 2013 की है. उस वक्त दिल्ली की सीएम शीला दीक्षित थीं. शायद कांग्रेस लिस्ट में इस नाम को पढ़ने में चूक कर गई. इसके बाद सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या सहारा ने शीला दीक्षित को भी पैसे दिये थे.

भाजपा ने तुरंत इस मुद्दे पर कहा कि दो मानदंड नहीं हो सकते और राहुल ‘गड़े मुर्दे उखाड़ रहे हैं’ क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही इस मामले को साफ कर दिया है.

कांग्रेस की ओर से उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित ने आरोपों से साफ इंकार किया और दस्तावेजों को खारिज करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही उनके संबंध में अपनी टिप्पणी की है.

उन्होंने कहा, ‘आरोपों में जरा भी सच्चाई नहीं है. मैं पूरी तरह से इन आरोपों को खारिज करती हूं.’ कांग्रेस द्वारा अपने ट्विटर हैंडल पर लिस्ट सार्वजनिक किए जाने के बारे में पूछने पर शीला दीक्षित ने कहा, ‘इससे मुझे आश्चर्य हुआ.’

हालांकि उन्होंने कहा कि उनका इस मुद्दे से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने इस संबंध में और आगे बोलने से इंकार करते हुए कहा कि यह मामला न्यायाधीन है. उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि वह इस मुद्दे को पार्टी में उठा सकती हैं.

लिस्ट के मुताबिक दिल्ली की सीएम को 23 सितंबर 2013 को 1 करोड़ देने का जिक्र है. शीला दीक्षित दिसंबर 2013 तक दिल्ली की सीएम थीं. वहीं इस तथाकथित लिस्ट में गुजरात के सीएम मोदी को 5-5 करोड़ रुपये 7 बार और दो बार 2.5 करोड़ रुपये देने का जिक्र है. मोदी को मिले इसी पैसे की जांच की मांग राहुल गांधी कर रहे हैं.

इस लिस्ट में कई और भी नाम हैं. कांग्रेस ने जो लिस्ट ट्वीटर हैंडल पर शेयर की है उसमें मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के सीएम का भी जिक्र है. इसके मुताबिक 29 सितंबर और 1 अक्टूबर 2013 को एमपी सीएम को 5 करोड़ दिये गए. उस वक्त मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान थे.

कांग्रेस ने दावा किया है कि 1 अक्टूबर 2013 को छत्तीसगढ़ के सीएम को दिल्ली में 4 करोड़ दिये गए. उस वक्त छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह थे. राहुल गांधी ने कहा था कि आयकर विभाग के पास ये लिस्ट पिछले ढाई साल से है लेकिन इसपर कार्रवाई नहीं की गई.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY