वेनेज़ुएला में नोटबंदी के बाद दंगे-लूटपाट, बुलाई गई सेना

कराकस. भारते के बाद वेनेजुएला में हुई नोटबंदी के बाद वहां प्रदर्शन, लूटपाट और पुलिस से मारपीट जैसी घटनाएं सामने आ रही हैं.

वेनेजुएला में सबसे बड़े और ज्यादा चलने वाले 100 बोलिवर नोट को बंद करने के फैसले के बाद कैश की कमी हो गई और लोग परेशान है.

पिछले हफ्ते सरकार ने 72 घंटों के भीतर देश के सबसे ऊंचे मूल्य के बैंक नोट को सिक्कों से बदलने का ऐलान किया था. जिसके बाद से बैंकों के सामने लोगों की लंबी कतारें लगी हुई हैं.

मटुरिन में एक किसान ने कहा कि एक मार्केट की सुरक्षा के लिए मिलिट्री लगाई गई थी. यहां लोगों ने चिकन का एक ट्रक लूट लिया.

एक चश्मदीद ने बताया कि प्यूर्टो ला क्रूज में लोगों ने दंगे शुरू कर दिए, क्योंकि वे कैश ले जाना चाहते थे और उन्हें ऐसा नहीं करने दिया गया.

एक अन्य चश्मदीद के मुताबिक़, “पुलिस ने दंगे शांत करने के लिए हवा में फायरिंग की. पुलिस ने सभी दुकानें बंद करने का ऑर्डर दिया.”

स्थानीय मीडिया के अनुसार सांता बारबारा में फायरिंग में चार लोग घायल हो गए. यहां एक ट्रक कैश ट्रांसपोर्ट कर रहा था और लोगों ने जब इसे रोकने की कोशिश की थी.

उल्लेखनीय है कि 100 बोलिवर बैंक नोट की कीमत दो अमरीकी सेंट के बराबर रह गई है. इसके मूल्य में पिछले कुछ सालों में भारी कमी देखी गई है.

राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने ब्राज़ील और कोलंबिया से लगी सीमा को रविवार तक बंद रखने का आदेश दिया है.

इसका मकसद ‘माफिया’ पर रोक लगाना है ताकि वे काले धन को बाहर ना भेज सकें. इस घोषणा के बाद से देश में लगभग अफरातफरी का आलम है.

नोटबंदी की घोषणा करते हुए राष्ट्रपति मादुरो ने कहा था, ‘माफिया ने 100 बोलिवर के अरबों नोट छिपा कर रखे हैं. ये नोट कोलंबिया और ब्राजील के शहरों में भी हैं.’

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY