Indian Navy Day : और ऐसे तैयार हुआ नौसेना का ध्वज

0
63
navy flag
Indian Navy Flag

आज के युवाओं का सैन्य बलों से उस तरह का जुड़ाव नहीं है जैसा सिनेमा या क्रिकेट के साथ होता है. नौसेना तो दूर की बात बहुत लोगों को ये भी पता नहीं होगा कि नौसेना का ध्वज कई बार बदला है.

हमारे बचपन में जो नेवी का फ्लैग था उसमें लाल पट्टी के बीच में अशोक स्तंभ नहीं था. सफेद बैकग्राउंड पर लाल पट्टियां दरसअल इंग्लैंड का फ्लैग है. इसीलिए इंडियन नेवी ने इसे बदला था.indian-navy-flag

लाल पट्टियां हटा दी गयीं थीं और नेवी का emblem लगाया गया था जिस पर शं नो वरुणः लिखा होता था. इस झंडे को फिर बदला गया क्योंकि ये दूर के जहाज से दीखता नहीं था.

Naval emblem का नीला रंग समुद्र के रंग में खो जाता था. तो फिर से चटख लाल रंग की पट्टियां लगाई गयीं और इंग्लैंड की दासता के प्रतीक को मिटाने के लिए लाल पट्टियों के बीच स्वर्ण अशोक स्तंभ लगाया गया.

नेवी में झंडे का महत्व है. क्योंकि पुराने जमाने में दूर से आते जहाज अपनी पहचान झंडे के माध्यम से ज़ाहिर करते थे.

टेलिस्कोप में जहाज का नाम नहीं बल्कि झण्डा दिख जाता था. आज भी एडमिरल रैंक के अधिकारियों को ‘Flag officer commanding’ FOC कहा जाता है.

Save

Save

Save

Save

Save

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY