सुना है तुम जादू करते हो!

0
44

फिर ये दुनिया हसीन कर दो,
या फिर मुझे ज़मींदोज़ कर दो,
तुम कोई तो जादू कर दो,
सुना है मैंने के तुम जादू करते हो।।

मेरी इच्छाओं को पंख दे दो,
तमन्नाओं को मेरी परवाज़ दे दो,
कोई तो बात सच कर दो,
सुना है मैंने के तुम जादू करते हो।।

मेरे सपनो को कुछ हसीन कर दो,
सपनो में मेरे तुम रंग भर दो’
या फिर आँखों को मेरी सपनों से
मेहरूम कर दो,
सुना है मैंने के तुम जादू करते हो ।।

मेरी पीठ पे तपते सूरज को ठंडा कर दो,
मेरी रातों को चांदनी से भर दो ,
या फिर मेरे चाँद को भी तन्हा कर दो,
सुना है मैंने के तुम जादू करते हो ।।

मेरी जलती आँखों में नींदे दे दो,
नींदों में कुछ मीठे सपने दे दो,
सपनों में मुझको तुम दे दो,
बस यही एक जादू कर दो,
सुना है मैंने के तुम जादू करते हो ।।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY