नाभा जेल ब्रेक का मास्टरमाइंड यूपी के कैराना में गिरफ्तार, हरियाणा के कैथल में मिली संदिग्ध कार

पटियाला. पंजाब की उच्च सुरक्षा वाली नाभा जेल पर हमला कर खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट (केएलएफ) आतंकवादी हरमिंदर मिंटू रविवार को भगा ले जाने के मामले का कथित मास्टरमाइंड परमिंदर सिंह यूपी के शामली जिले के कैराना से गिरफ्तार कर लिया गया.

वहीं, हरियाणा के कैथल में एक लावारिस ह्यूंडई वर्ना कार मिली. जेल से भागने वाले कैदियों ने एक इसी तरह की कार का भी इस्तेमाल किया था.

पुलिस ने बताया कि कार लॉक थी और सामने दो नंबर प्लेटें थी. फिंगरपिंट्रिंग विशेषज्ञों को कार के दरवाजे खोले जाने से पहले फॉरेंसिक जांच के लिए बुलाया गया है.

पुलिस की वर्दी में आए हथियारंबद हमलावरों ने जेल पर हमला कर इन्हें भागने में मदद की थी. परमिंदर सिंह को उसे तब गिरफ्तार किया गया जब एक पुलिस पिकेट पर टोयोटा फॉर्च्यूनर नाम की गाड़ी को रोका गया.

पंजाब पुलिस के प्रमुख सुरेश अरोड़ा के मुताबिक, भागने वालों में आतंकवादी कश्मीरा सिंह भी शामिल है.

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) दलजीत सिंह चौधरी ने बताया कि शामली में तलाशी के दौरान टोयोटा फॉर्च्यूनर से एक सेल्फ-लोडिंग राइफल (एसएलआर), तीन राइफल और कई आग्नेयास्त्र बरामद किए गए.

चौधरी ने कहा कि परमिंदर ने पूछताछ में अधिकारियों को बताया कि भागने वाले कैदी अलग-अलग समूहों में बंट गए थे और हरियाणा के करनाल एवं पानीपत की दिशा में गए.

उन्होंने बताया, ‘जेल से कैदियों के भागने की सूचना मिलने के बाद हमें आशंका थी कि वे कहीं बंद, कहीं खुली लंबी सीमा के जरिए नेपाल में दाखिल होने की कोशिश कर सकते हैं.

उन्होंने कहा, हमें वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर के बारे में बताया गया था. हमने इसकी तलाशी ली तो हमें हथियार मिले. मास्टरमाइंड परमिंदर ने जेल से भागने की घटना की योजना बनाने और इसे अमल में लाने की बात कबूल की है.’

चौधरी ने कहा कि परमिंदर पंजाब पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर की हत्या का आरोपी है और उसने प्रेमा नाम के एक गैंग्स्टर के साथ जेल से भागने की योजना बनाई थी. प्रेमा ने कुछ समय पहले जेल से भागने में उसकी मदद की थी.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से बात की. उन्होंने राज्य सरकार को जेलों की सुरक्षा बढ़ाने के साथ-साथ घटना पर तुरंत रिपोर्ट देने को कहा.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने उप-मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल से बातचीत की. सुखबीर ने डोभाल को घटना की पूरी जानकारी दी और बताया कि फरार हुए छह कैदियों की गिरफ्तारी के क्या प्रयास किए जा रहे हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY