राहील शरीफ की जगह कमर जावेद बाजवा होंगे पाकिस्‍तान के नए आर्मी चीफ

Lt Gen Qamar Javed Bajwa appointed new army chief of Pakistan
Lt Gen Qamar Javed Bajwa

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा को आर्मी चीफ के पद के लिए चुना है. सेना प्रमुख राहील शरीफ के 29 नवंबर को रिटायर होने की वजह से यह पद खाली हो रहा था.

बाजवा की नियुक्ति को भारत के लिए सकारात्‍मक तौर पर देखा जा सकता है क्‍योंकि आतंकवाद को लेकर उनका रुख काफी सख्‍त रहा है.

जनरल याह्या खान, जनरल असलम बेग और जनरल कयानी के बाद कमर जावेद बाजवा बलूच रेजिमेंट से आने चौथे आर्मी चीफ हैं.

सेनाध्यक्ष पद के लिए अन्य दावेदारों में जनरल स्टाफ के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल जुबैर हयात और मुल्तान में कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल इश्फाक नदीम अहमद शामिल थे.

वरिष्ठता के मुताबिक पहला नाम लेफ्टिनेंट जनरल ज़ुबैर महमूद हयात का था जो फिलहाल सैन्य मुख्यालय में चीफ ऑफ जनरल स्टाफ पद पर हैं.

इसके बाद दूसरा नाम लेफ्टिनेंट जनरल अशफाक नदीम अहमद का था जो मुल्तान के कोर कमांडर हैं और इससे पहले चीफ ऑफ जनरल स्टाफ रह चुके हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा इस समय पाकिस्‍तानी सेना मुख्‍यालय जीएचक्‍यू में हैं, जहां रहते हुए पाकिस्‍तानी सेना की सबसे बड़ी विंग 10 कॉर्प्‍स को कंट्रोल किया जाता है, जिसके जिम्‍मे कश्‍मीर में भारत पाकिस्‍तान की मौजूदा बॉर्डर की सुरक्षा है.

दरअसल बाजवा कश्‍मीर ऑपरेशंस पर बेहद रुचि लेते हैं और कट्टर विचारधारा के हैं. एलओसी पर अभी चल रहे ऑपरेशंस के पीछे उसका ही दिमाग बताया जा रहा है.

इस वजह से एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि सेना प्रमुख का ओहदा मिलने पर वो अपने मुल्‍क पाकिस्‍तान के लिए भी खतरा बन सकते हैं.

कई मौकों पर वह कह चुके हैं कि चरमपंथ का खतरा भारत के मुकाबले पाकिस्‍तान के लिए ज्‍यादा है.

बाजवा के साथ काम करने वाले लोगों का कहना है कि उन्‍हें सुर्खियों में बने रहने की आदत नहीं है और वह सैनिकों के साथ पूरी तरह जुड़े रहते हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY