#GenerallySaying : हम बर्बर नहीं, लेकिन तुमको पता है कि होने वाले परिणाम के ज़िम्मेदार तुम्हारे अलावा कोई नहीं

generally-saying-salute-indian-army
Salute Indian Army : General V K Singh

किसी सैनिक का किसी आतंकी से व्यक्तिगत वैमनस्य नहीं होता. वह बस देश की सुरक्षा में जीवन हरता है या हारता है. यही है सबसे विशुद्ध राष्ट्रभक्ति और इसका सम्मान सर्वथा होना चाहिए.

जब हमारे सैनिकों के क्षत विक्षत शरीर घर आते हैं, तो इसका क्या अर्थ निकालें?

जिन्होंने इस घृणित कुकृत्य को अंजाम दिया, कौन हैं वो जो उन्हें समर्थन देते हैं और अपना सिपाही मानते हैं? क्या इसमें कोई सम्मान संभव है?

जो भी हैं ये आतंकी और इनके समर्थक, उनके लिए सन्देश – हम बर्बर नहीं. परंतु तुमको पता है कि होने वाले परिणाम के ज़िम्मेदार तुम्हारे अलावा कोई नहीं.

मैं हर देश की सेना की तरफ से बोलता हूँ कि उनके सैनिक सच्चे देशभक्त होते हैं और यह देशभक्ति उनके दुश्मनों में भी आदर प्रेरित करती है.

क्या आपको पता है कि किसी सभ्य राष्ट्र की सेना और किसी दुष्ट देश के बर्बर सैन्य समूह के बीच क्या अंतर होता है? उनपर तब ध्यान दीजिये जब उनके हाथों में विपक्षी सैनिकों का जीवन होता है.

विजय तो आपकी झोली में तभी आ गयी जब आपने विपक्षी सैनिक को मार गिराया या उसे बंदी बना लिया. उसके उपरांत क्या आपने बंदी अथवा मृत सैनिक को वह सम्मान दिया जिसका वह अधिकारी है?

पाकिस्तान द्वारा हमारे सैनिकों के शरीर को क्षत विक्षत करना कुछ नया नहीं है. यह उनके सैन्य चरित्र एवं संस्कृति का हिस्सा बन गया है.

परन्तु हमारे सैनिकों का हम पर यह ऋण अवश्य है कि हम इन बर्बर अपराधियों को न्याय का ऐसा उत्कृष्ट उदाहरण बनायें जिसे दुनिया देखे.

#PunishmentForSavages #GenerallySaying

– General V.K. Singh (Facebook Page)

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY