वीडियो : चिटफंड घोटाले में लिप्त नेताओं को नोटबंदी से पड़ी करारी चोट, आगरा में बोले पीएम

आगरा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि करोड़ों रूपए के चिटफंड घोटाले के पीछे जिन नेताओं का हाथ रहा है, वे उन पर हमला इसलिए बोल रहे हैं क्योंकि नोटबंदी से उन्हें करारी चोट पड़ी है.

प्रधानमंत्री की इस टिप्पणी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखे हमले के तौर पर देखा जा रहा है. हालांकि प्रधानमंत्री ने किसी नेता का नाम नहीं लिया.

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पिछले 70 सालों की सरकारें काले धन पर चुप रहीं, क्योंकि उन्हें सत्ता से हाथ धो बैठने का डर था ।

आगरा में परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने जन धन खाताधारकों को आगाह किया कि वे अमीरों के गलत तरीके से कमाए पैसे काले से सफेद करने के लिए अपना इस्तेमाल नहीं होने दें, क्योंकि ऐसा करने से वे गैर-जरूरी तरीके से कानूनी पचड़ों में फंस जाएंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा, मैं जानता हूं कि किस तरह के लोग मेरे खिलाफ आवाज उठा रहे हैं. क्या देश को पता है कि चिटफंड कारोबार में किनके पैसे निवेश किए गए थे?

उन्होंने कहा, लाखों-करोड़ों लोगों ने चिटफंडों में धन का निवेश किया। लेकिन नेताओं की कृपा से करोड़ों करोड़ रूपए गायब हो गए.

प्रधानमंत्री ने कहा, चिटफंड से हुए नुकसान के कारण सैकड़ों परिवार के मुखिया को खुदकुशी के लिए मजबूर होना पड़ा. इतिहास पर नजर डालें. वे मुझ पर सवाल उठा रहे हैं.

गौरतलब है कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नोटबंदी के फैसले के खिलाफ इन दिनों विपक्षी नेताओं को लामबंद करने में जुटी हैं।

पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटालों से जुड़े मुकदमों में तृणमूल कांग्रेस के कुछ नेता आरोपों का सामना कर रहे हैं.

इससे पहले पीएम ने कानपुर में ट्रेन हादसे पर दुख जताया और कहा कि हादसे की पूरी जांच कराई जाएगी. घायलों की हरसंभव मदद का आश्‍वासन भी पीएम ने दिया.

नोटबंदी पर बोलते हुए पीएम ने कहा, ”देश का कालेधन से मुक्‍त कराने के लिए मैंने जो बीड़ा उठाया है, उसको सबसे ज्‍यादा आशीर्वाद गरीबों ने दिया है.”

उन्होंने कहा, मैं हैरान हूं मेरे देशवासी तकलीफ झेलने के बाद भी इस काम की सफलता के लिए सिर उठा रहे हैं. आपका यह बलिदान बेकार नहीं जाएगा. देश सोने की तरह तप करके बाहर निकलेगा.”

पीएम ने कहा, ”जो अब तक टैक्स देने से बचते रहे, आज उन सबको एक-एक पाई का हिसाब देना पड़ रहा है. अभी तो 20 तारीख हुई है, 5 लाख करोड़ से ज्‍यादा रकम लोगों ने आकर बैंकों में जमा की है.”

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY