नोटबंदी : काम आई स्याही लगाने की तरकीब, भीड़ में 40 प्रतिशत गिरावट दर्ज़

नई दिल्ली. नोटबंदी की घोषणा के बाद पुराने नोटों को बदलने के लिए मची अफरातफरी में शुक्रवार को खासी कमी आई.

बैंकों में उमड़ी भीड़ को कम करने के लिए सरकार ने पिछले कुछ दिनों में कई उपायों की घोषणा की थी. उनमें से एक था, नोट बदलवाने आए लोगों की उंगली पर स्याही का निशान लगाना.

इस तरीके का मकसद था नोट बदलवाने वाले को चिह्नित करना, ताकि एक ही व्यक्ति कई-कई बार नोट न बदलवा सके.

इस बारे में भारतीय बैंक संघ के अध्यक्ष राजीव ऋषि ने बताया कि स्याही का नियम लागू करने के बाद भीड़ में 40 प्रतिशत गिरावट दर्ज की गयी है.

इसके साथ ही राजीव ऋषि ने जानकारी दी कि शनिवार (19 नवंबर) को बैंक की सेवाएं सिर्फ ग्राहकों के लिए ही उपलब्ध होंगी.

शनिवार को सिर्फ वरिष्ठ नागरिक ही नोट बदल सकेंगे. अन्य बैंकों के ग्राहक अपनी शाखा में ही नोट बदलवा सकेंगे.

उन्होंने कहा कि बैंकों के कई अन्य काम पहले से ही पेंडिग है. उन्हें पूरा किया जाना बाकी है, इसलिए यह निर्णय लिया गया है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY