#तुमको_हमारी_उम्र_लग_जाए : माँ और मोदी

Modi and Mother
Modi and Mother

आज यूं ही ममी को फोन मिला दिया, सोचा हालचाल पूछ लूँ.. माँ की आदत है जगह जगह रुपयों की गाँठ बना के रख देती है तो सोचा कहूँ बदलवा ले नहीं तो बेकार हो जाएंगे..

हेल्लो…. उधर से आवाज़ आई

मैं भी हेल्लो बोली तो माँ बोली …हाआआ कूण बोल्ले है?

मैं!!! मोनिका …

आछो बोल जीजी.. के बात ..

किमें न माँ . क्या कर रही हो..

ए भाण के करुँ थी बाती बनाऊँ हूँ और मोदी न देखूँ हूँ..

मोदी न? कहाँ..

यो टीवी पे आ रहया .. भाषण सुणू  थी..

मैं बोली अच्छा मेरी बात सुनो ये जो जगह जगह गाँठ बना के रखे थे न उनको ढूंढ के बदलवा लो…

फिर रोने लगी माँ …मैं बोली माँ क्या हुआ..

ए जीजी के बताऊँ एक दिन सारे ढूंढ के कट्ठे करे .. मुड़े तुड़े नोट सीधे करे .. कुछ गद्दे निचे धर क कुछ प्रेस कर क और फेर एक साड़ी के डब्बे में धर दिए कि बैंक जाके जमा कराऊंगी..

मैं बोली तो फिर करवा दो अब..

रे कित् कराऊँ..

मखो के हुआ माँ ?

6 महीने होंगे उन बाता न  वा एक आई थी काली बिल्ली.. मुझे हँसी आ गयी… (मेरी माँ मुझसे छोटी बहन को ऐसे ही बोलती है.)

नासपीटी के हाँसे से.. थम कोई सी काम की कोनी.. उसने आके घर का कबाड़ा निकाला, कबाड़ी को बेच दिया वो डब्बा भी..

राम जी नास जाइयो कबाड़ी का ..मोदी किसी तरह उस का भी यो काला धन पकड़ ले ..

रोज देखूँ हूँ वो इब्ब ना आता इस तरफ उसकी  तो जाए रोये की कमाई होगी..

दुःख भी हुआ मुझे सुन कर ..

फिर माँ बोली बीरा साची कहूँ हूँ इन कबाड़ियों के पास भी नीरा बीलेक् मनी होवे स तन्ने न बेरा .. मेरे तो ले गया नास का बीज 35000 रूपये..

मैं बोली कोई न माँ के कमी है तेरे धोरे ..पापा कहते थे न खर्च कर लिया कर जोड़ा धन खराब हो जाता रुके पानी की तरह .. अब उसके नसीब के थे ले गया..

ए बीरा अच्छा किया मोदी ने, इब्ब तो कहूँ हूँ इन काले चोरा खातर यो ए सही है अब 50 साल यो ए राज करे बस ..

मैं हँस के बोली माँ कौन सा हम जिएंगे तब तक..

ए म्हारे बाळक तो से उनका भला होगा तन्नै ना बेरा  किमें भी..

मैं सुनती रही बोली अच्छा माँ फिर..

फेर के जिस जिस ने पिसे उधार ले राखे थे मरे बटे सब बोले ले जाओ शर्मा जी .. लाखों की उधार हो रही थी कोई देन का नाम कोनी ले था.. बैरी ईब खुद घरने आके दे के जा हैं जीब तो मेरे सासू आलेयां ने दबोच के राखे थे..  ऐ औरों का तो बेरा कोनी म्हारा तो बहोत बढ़िया किया… और इब्ब भाषण दे था के और भी बढ़िया करेगा..

अच्छा !! क्या बोला??

ए बीरा जीजी बेरा न के बोले था पर यो करूंगा वो करूँगा..

के माँ के के करेगा?

ए वो ए करेगा..

के माँ?

फिर गुस्से में बोली मन्ने ना बेरा पर देश का अच्छा करेगा .. तू फोन रख मन्ने मोदी न सुनन दे ..  थम तो बेकाम की सो .. ठाली बैठी मेरा टाइम खराब करो.. यो मोदी चला जागा फेर ..और ये कह के माँ ने फोन काट दिया….

और मैं मुस्कुरा रही थी की माँ भी मोदी जी को दुआ दे रही है… #तुमको_हमारी_उम्र_लग_जाए..

– मोनिका शर्मा  

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY