प्रधानमंत्री की मां ने खुद बैंक जाकर बदलवाए 500 रूपए के नौ नोट

गांधीनगर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबा मंगलवार को करंसी बदलवाने के लिए खुद चलकर गांधीनगर के एक बैंक पहुंची.

चलने में खासी तकलीफ के बावजूद पीएम की मां और परिवार के अन्य लोग उनके साथ मौजूद थे.

उनके पास 500-500 के 9 नोट थे. बैंक में उन्होंने बाकायदा फॉर्म भरा. बता दें कि मोदी ने 8 नवंबर को 500-1000 के नोट बंद किए जाने का एलान किया था.

उन्होंने गांधीनगर के रायसन में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में अपने पुराने नोट बदलवाए.

हीराबेन वीआईपी कल्चर के खिलाफ संदेश देते हुए सामान्य नागरिक की तरह बैंक में गईं. हालाँकि बुजुर्ग होने के कारण उन्हें लाइन में नहीं लगना पड़ा.

परिवार की मदद से उन्होंने फॉर्म भर कर अपने 4500 हजार रुपए के पुराने नोट बदलवाए. नोट बदलवाने के बाद उन्होंने 2000 का नया नोट भी दिखाया.

चलने में काफी मुश्किलों के बावजूद पीएम की मां हीराबेन ने संदेश देने की कोशिश की कि जब वह बुजुर्ग हो कर भी सरकार के फैसले के साथ खडे़ होकर थोड़ी मुश्किल सह सकती हैं.

हीराबेन अपने सबसे छोटे बेटे पंकज मोदी के साथ गांधीनगर में रहती हैं. पंकज मोदी राज्य के सूचना विभाग में कार्यरत हैं और आम लोगों की तरह रहते हैं.

Comments

comments

LEAVE A REPLY