अब 24 नवंबर तक स्वीकार किए जाएंगे 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट

pm-narendra-modi-meeting-on-demonetization
High level meeting on demonetization, photo credit : pib.nic.in

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर रविवार देर रात हुई बैठक में लोगों को राहत देते हुए कई बड़े फैसले भी लिए गए.

सबसे बड़ी राहत भरी खबर यह है कि 500 और 1000 रुपये के नोटो को अब 24 नवंबर की मध्यरात्रि तक चल सकेंगे.

हालांकि इनका उपयोग कुछ जरूरी सेवाओं जैसे- अस्पताल, श्मशान घाट, मेट्रो स्टेशनों, दवा की दुकानों, पेट्रोल पंपों पर ही किया जा सकेगा.

आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास के मुताबिक़ इसके अलावा देश के सभी टोल पर 24 नवंबर तक कोई टैक्स भी नहीं लिया जाएगा.

दास ने बताया कि बैंकों को कम से कम 50 हजार रुपये तक कैश लिमिट बढ़ाने की सलाह दी गई.

उन्होंने कहा कि ज्यादा आबादी वाले क्षेत्रों में और भी अधिक संख्या में माइक्रो एटीएम लगाए जाएंगे.

उन्होंने बताया कि फिलहाल कुछ जगहों पर 500 और 1000 के पुराने नोट स्वीकार करने की अंतिम तिथि 14 नवंबर से 24 नवंबर की मध्यरात्रि तक बढ़ा दी गई है.

बिजली और पानी के बिल जैसे केंद्र सरकार, राज्य सरकार द्वारा लिए जाने वाले सभी बिलों का भुगतान 24 नवंबर तक 500 और 1000 के पुराने नोटों से किया जा सकता है.

प्रधानमंत्री आवास पर हुई इस बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली, सूचना और प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बिजली और कोयला मंत्री पीयूष गोयल, आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास और कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

इसके अलावा सरकार ने बैंको में पुराने नोट बदलने की सीमा बढ़ा कर 4500 रुपए एवं साप्ताहिक निकासी की सीमा बढ़ाकर 24 हजार रुपए कर दी है तथा एटीएम से प्रतिदिन 2500 रुपए निकालने की छूट दी है.

वित्त मंत्रालय ने रविवार देर रात जारी बयान में कहा कि बैंकों को इस संबध में निर्देश दे दिए गए है. पहले बैंकों को 4 हजार रुपए के 500 और 1000 रुपए के नोट बदलने के आदेश दिए गए थे जिसे बढ़ाकर अब 4500 रुपए कर दिए गए हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY