जंगलराज रिटर्न्स उर्फ़ बिहार में बहार : एक और पत्रकार की हत्या

journalist-dharmendra-singh-shot-dead-in-sasaram-bihar

सासाराम. ‘बिहार में बहार है, नितिशे कुमार है’ के नारे के साथ चुनाव में उतरे नितीश कुमार ने जब चारा घोटाले में सज़ायाफ़्ता लालू संग गठबंधन किया तो विरोधियों ने जंगलराज लौटने की आशंका जताई थी.

राजद-जदयू गठबंधन के एक साल के शासनकाल के दौरान हुई वारदातों की श्रृंखला ने विरोधियों की आशंका को पुष्ट ही किया.

इस श्रृंखला में ताज़ा कड़ी प्रदेश के रोहतास जिले में एक हिंदी दैनिक के पत्रकार धर्मेंद्र सिंह की गोली मारकर हुई हत्या के रूप में जुड़ गई है.

बिहार के सासाराम स्थित अमरा तलाव में शनिवार को बाइक सवार बदमाशों ने एक पत्रकार की दिनदहाड़े हत्या कर दी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक धर्मेंद्र पत्थर खनन माफियाओं के निशाने पर थे. धर्मेंद्र की हत्या के बाद आक्रोशित लोग गुस्से में सड़क पर उतर आये हैं.

पुलिस के मुताबिक, पत्रकार धर्मेंद्र सिंह पर उस वक्त हमला किया गया, जब वे एक दुकान पर चाय पी रहे थे.

बाइक सवार बदमाशों ने धर्मेंद्र के शरीर में तीन गोलियां दागी. वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश वहां से फरार हो गए.

स्थानीय लोगों की मदद से धर्मेंद्र को फौरन सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालत गंभीर होने की वजह से उन्हें वाराणसी रेफर कर दिया गया लेकिन रास्ते में ही धर्मेंद्र की मौत हो गई.

जानकारी के मुताबिक अपराधियों द्वारा गोली मारे जाने के बाद धर्मेंद्र वहीं गिर गये और उनकी छाती से खून निकलने लगा.

गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर जुट गये. तब तक खून काफी बह चुका था. गोली धर्मेंद्र की छाती से बिल्कुल सटा कर मारी गई थी.

गौरतलब है कि इसी साल मई में बिहार में पत्रकार राजदेव रंजन की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी.

सीवान के बाहुबली पूर्व सांसद और लालू प्रसाद यादव के ख़ास साथी शहाबुद्दीन भी पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के मामले में आरोपी हैं.

मामले के तूल पकड़ते ही पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड की जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी.

घटना के बाद जहां इलाके में दहशत हैं वहीं स्थानीय पत्रकारों में काफी आक्रोश है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी की जा रही है.

पूरे जिले में स्थानीय लोगों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY