यह बहुत बड़ा ऑपरेशन है, देश की 86 प्रतिशत करेंसी बदल रही है : जेटली

photo credit : pib.nc.in

नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने देश को भरोसा दिलाया है कि दो से तीन हफ़्ते में एटीएम सामान्य तरीके से काम करने लगेंगे.

जेटली के मुताबिक़ नए जारी हुए 2,000 और 500 के नोटों के लिए देशभर के दो लाख एटीएम को व्यवस्थित करने में दो-तीन सप्ताह का समय लग सकता है.

इसके साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि आभूषण विक्रेताओं से चलन से बाहर हो चुकी मुद्रा में किए गए सौदों का ब्योरा मांगा गया है. सरकार सर्राफा में कोई गैरकानूनी कारोबार नहीं होने देगी.

इसी तरह जनधन खातों के दुरुपयोग की खबरों पर जेटली ने कहा कि देश में इन खातों के दुरुपयोग की खबरें हैं, संबंधित विभाग किसी भी तरह की गैरकानूनी गतिविधि की जांच करेंगे.

उन्होंने कहा कि इस बात की संभावना पहले से थी कि शुरुआती कुछ दिनों में इस फैसले से परेशानी होगी क्योंकि देश की 86 प्रतिशत करेंसी बदल रही है, यह एक बहुत बड़ा ऑपरेशन है.

वित्त मंत्री ने शनिवार को लोगों से अपील की कि पुराने नोटों को जमा कराने के लिए बैंकों में भीड़ न जुटाएं और धीरे-धीरे पुराने नोटों का जमा कराएं.

उन्होंने कहा, शुरुआती कुछ दिन परेशानी भरे हो सकते हैं लेकिन दीर्घावधि में इससे अर्थव्यवस्था को फायदा पहुंचेगा.

साथ ही जेटली ने कहा कि 2,000 रुपए के नोट में चिप होने और डिजिटल लॉकर्स एक मनगढंत अफवाह है.

वित्त मंत्री ने कहा कि बड़े नोटों को बंद किए जाने के बाद से सरकार लगातार नकदी की कमी की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि भारतीय स्टेट बैंक ने पिछले दो दिन में अकेले 2.28 करोड़ लेनदेन किए. कुल बैंकिंग लेनदेन इसका 4-5 गुना होंगे. एसबीआई अकेले में पिछले दो दिन में 47,868 करोड़ रुपये जमा हुए हैं.

जेटली ने कहा, सभी बैंकों की कुल जमा करीब 2 से 2.25 लाख करोड़ रुपये के बीच होनी चाहिए. उन्होंने कहा, रिजर्व बैंक, बैंकों के सभी 4,000 खजानों में पर्याप्त मुद्रा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY