कहोगे तो हम सड़क पर भी नाच लेंगे… बस, हमें वोट दे दो

Congress vice president Rahul Gandhi
Rahul Gandhi, Congress at JNU and RML Hospital protesting against Modi govt

भूमि अधिग्रहण बिल आया तो काँग्रेस को लगा इस मुद्दे पर विरोध करो… किसानों का वोट मिल सकता है…

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू हुईं तो विरोध किया… लगा केंद्रीय कर्मचारियों का वोट मिल सकता है…

फ़र्ज़ी दलित रोहित वेमूला ने आत्महत्या की तो दलित वोटों के लालच में उसका समर्थन कर दिया…

चोरी की घटना की मारपीट में अख़लाक़ की हत्या हुई तो मुस्लिम वोटों के जुगाड़ में वहाँ भी जा पहुँचे. जमकर समर्थन किया.

सराफा व्यवसायियों पर टैक्स लगाया तो चंद वोटों के लालच में उनके मंच पर भी जा बैठे.

JNU में देशद्रोही नारे लगे तो सरकार के विरोध के नाम पर देश के दुश्मनों की गोद में बैठ गयी काँग्रेस.

वन रैंक वन पेंशन (OROP) लागू हुई तो इस मामले में अपनी दशकों की नाकामी छुपाने के लिये दो चार असंतुष्ट प्रायोजित फौजियों की आड़ लेकर विरोध शुरू कर दिया.

सर्जीकल स्ट्राइक हुई तो विरोध के नाम पर फौज पर ही ऊँगली उठा दी… वोट बैंक के लालच में…

और अब 500 / 1000 रूपए के नोट बंद करने पर कुछ नही मिला तो काला धन रखने वाले बेईमान लोगों से सहानुभूति दिखाकर बेईमानों के वोट पक्के करने में लगे हैं…

काँग्रेस की हालत उस विधुर जैसी हो गई है, जिसे 60 की उम्र में शादी करनी है…भले ही लड़की कैसी भी हो.

कुल मिलाकर काँग्रेस कहना चाहती है…’हमको वोट दो यार… कहोगे तो हम सड़क पर नाचने को भी तैयार है… बस वोट दे दो’.

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति मेकिंग इंडिया ऑनलाइन (www.makingindiaonline.in) उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार मेकिंग इंडिया ऑनलाइन के नहीं हैं, तथा मेकिंग इंडिया ऑनलाइन उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY