वही चमत्कारिक 500 का नोट तो था मेरी चुनावी लाठी

Arvind Kejriwal
file photo

ये आपने ठीक नहीं किया, मोदी जी. आप तो जानते ही हैं कि मेरे पास 500 रूपए का एक ही नोट है. उसी से मैंने वाराणसी तक का रिजर्वेशन कराया था.

उसी 500 रुपये के नोट से मैं इलेक्शन लड़ा. फिर उसी नोट से मैंने वाराणसी से दिल्ली तक प्लेन का टिकट कराया था.

अब पंजाब और गोवा में इलेक्शन सर पर है. चुनाव जीतने के लिए पैसा चाहिए साहब.

जहाँ जाता हूँ पब्लिक मुझे थैले भर भर के टमाटर दे देती है पर चंदा फूटी कौड़ी भी नहीं देती.

ऐसे में वही चमत्कारिक 500 का नोट मेरी चुनाव की लाठी था. वो भी आपने छीन लिया. अब बिना पैसे के मैं इलेक्शन कैसे लडूं?

जब से आप देश के नाम पर बोले हैं तभी से मेरी तबियत बिगड़ गई है. इस दुखियारे को और कितना कष्ट देंगे साहब आप? मेरे अच्छे दिन कब आने देंगे आप?

आप मत खाइए, कम से कम मुझे तो खाने दीजिये. बड़े मुश्किल से XXL साइज़ की शर्ट अब फिट आनी शुरू हुई थी. अब फिर से किड्स सेक्शन में जाकर कपड़े खरीदने पड़ा करेंगे मुझे.

मोदी जी आप तुरंत अपना ये पेटू विरोधी फैसला वापस लीजिये, वरना आपके खिलाफ मैं धरना दे दूंगा. आपको आपके प्रधानमंत्री पद से डिसमिस कर दूंगा.

फिर से आपको कोसना शुरू कर दूंगा – मोदी जी! मोदी जी! मोदी जी!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY