करीब आया ISIS सरगना बगदादी का अंत, इराकी सेना ने घेरा

baghdadi-iraq-army-mosul

लंदन. बर्बर इस्लामिक आतंकवादी संगठन ISIS (इस्लामिक स्टेट) का सरगना अबु बकर अल-बगदादी का अंत नज़दीक आ चुका है.

इराकी सेना ने मोसुल में जारी निर्णायक जंग में दुनिया के इस सबसे कुख्यात आतंकवादी को घेर लिया है. दो साल में पहली बार इराकी सेना ISIS के गढ़ मोसुल में घुस सकी है.

‘द इंडिपेंडेंट’ की रिपोर्ट के मुताबिक आईएस का स्वघोषित खलीफा मोसुल में ही छुपा है और आतंकवादी संगठन अब निर्णायक हार के करीब है.

कुर्दिश सेना प्रमुख फाउद हुसैन ने बताया, सरकार को कई सूत्रों से जानकारी मिली है कि बगदादी वहीं है और यदि वह मारा गया तो इसका मतलब ISIS का खात्मा होगा.

हुसैन के मुताबिक, पिछले 8-9 महीनों से बगदादी ने खुद को यहीं तक सीमित रखा है. वह बहुत हद तक मोसुल के ईसीस कमांडरों पर निर्भर हो गया है. उसके कई वरिष्ठ और बड़े साथी 2014 के बाद से मारे जा चुके हैं.

बताया जा रहा है कि मोसुल की लड़ाई कुछ लंबी भी खिंच सकती है, क्योंकि उसके लड़ाके अपने सरगना को बचाने के लिए पूरी ताकत लगा देंगे.

अगर बगदादी मारा जाता है तो ISIS को युद्ध के बीच में ही नया खलीफा चुनना होगा, लेकिन अब उसके किसी उत्तराधिकारी के पास बगदादी जैसी शक्ति नहीं बची.

अबु बकर अल-बगदादी ने जून 2014 में मोसुल पर कब्जा जमाने के बाद पूरी दुनिया को चकित कर दिया था.

हुसैन ने कहा, ‘बगदादी मारा जाएगा और आईएस की हार होगी यह तो तय है, लेकिन इसमें कितना समय लगेगा इसके बारे में नहीं कहा जा सकता.’

आईएस आतंकवादियों ने छुपने के लिए बहुत सी सुरंगें बना रखी हैं. मोसुल का ध्वस्त होना कई कारकों पर निर्भर करेगा.

बगदादी के गढ़ मोसुल में इराकी और कुर्दिश सेना बगदादी के आतंकियों को चुन चुन कर मार रही है. इराकी सेना ने मोसुल में बगदादी के पांव उखाड़ने शुरु कर दिए हैं.

उल्लेखनीय है कि ISIS का खात्मा करने में अमेरिका और 67 देशों की मित्र सेनाएं इराकी सेना का साथ दे रही हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY