जंगली प्याज़ : कमर और घुटनों के दर्द के लिए रामबाण इलाज

एक ज़माना था जब अपने आपको नपुंसक अनुभव करने वालो को जमकर लूटा जाता था हर जगह. “नाकाम मर्द निराश ना हों” के विज्ञापन देखने को मिल जाते थे ट्रेन में सफ़र करते हुए शहर आने से पहले ना जाने कितने हकीम,वैद्य, और डॉकटरों के विज्ञापन नपुंसक लोगों को महामर्द बनाने का दावा करते हुए दिखाई दे जाते थे.

समय बदला अब लोगों से टी.वी. के विज्ञापनों के द्वारा उगाही शुरू हो गई. इस समय अधिकाँश शातिर लोगों के निशाने पर गंजेपन और घुटने और कमर दर्द से पीड़ित लोग आ गए हैं.

इसमें मुझे गंजे लोगों को लूटने वालों पर बहुत गुस्सा आता है क्योंकि एक गंजा इंसान बहुत निरीह और मासूम होता है. उसकी बेचारगी की इन्तेहा देखिये कई बार ठगे जाने के बाद भी वह गंजापन दूर करने वाले नए दावेदार के झांसे में आ ही जाता है.

बहरहाल आज लेख लिखने का मेरा उद्देश्य घुटने और कमर दर्द से पीड़ित लोगों को व्यर्थ के खर्चे से बचाना है. इन दिनों अन्नू कपूर अस्थिजीवक नाम की दवा का भेराभूत विज्ञापन कर रहे हैं.

जब भी टी.वी. खोलो ये महाशय बड़े अपनेपन के साथ पूरे देश के घुटने और कमर दर्द से पीड़ित लोगों कों दर्द से राहत दिलाने के दावे करते नज़र आ जाते हैं,

निश्चित रूप से आयुर्वेद में कई औषधियां बेमिसाल हैं लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं कि लोगों की जेब तराशी की जाए.
jangali-pyaaj
जो लोग ढाई हज़ार की अस्थिजीवक दवा मंगा चुके हैं उन्हें कितना लाभ हुआ होगा यह तो मैं नहीं जानता लेकिन मैं आपको एक रामबाण दर्द निवारक दवा के बारे में बताता हूँ.

प्याज जैसी दिखने वाली यह “जंगली प्याज” (indian squill) इन दिनों जंगलों में भरपूर मात्रा में ऊग रही है जहाँ हमलोगों ने वृक्षारोपण किया हुआ है वहाँ यह प्रचुर मात्रा में ऊग रही है.

आपको सिर्फ इतना करना है कि इसे प्याज की तरह क़तर कर शुद्ध सरसों के तेल में तब तक परतना (फ्राय करना ) है जब तक वो काली ना पड़ जाए.
(दौ सौ ग्राम तेल में जंगली प्याज की दौ गांठें).

फिर उस तेल कों कपड़े से छानकर एक बोतल में सहेज कर रख लीजिए और रोज दो बार घुटनों की मालिश कीजिए दर्द ऐसे खत्म हो जाएगा जैसे कभी था ही नहीं, यह घुटने के दर्द के लिए रामबाण है और लगभग मुफ्त है.
jangali-pyaj

चूँकि हम प्रतिदिन यहाँ पौधों पक्षियों की सेवा करते हैं इसलिये घास के बीच इस कंद को पहचान जाते हैं. एक अनजान व्यक्ति के लिये यह कठिन होगा इसलिए फोटो संलग्न है. घास के बीच में लम्बी पत्तियों वाली वनस्पति जंगली प्याज है.

ध्यान रहे इसे खाने का प्रयास ना करें यह जहरीली होती है.

– अजित भोंसले

जंगली प्याज के लिए संपर्क करें
इन्द्रदेव सिंह
आनंद वन
आमखो बस स्टेंड के पास,
पुलिस हिल
कम्पू, लश्कर
ग्वालियर (मध्यप्रदेश)
मोबाइल नंबर 822383130

भादवे का घी : मरे को ज़िंदा करने के अतिरिक्त यह कर सकता है सब कुछ

Save

Comments

comments

loading...

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY