नमकीनों की महारानी : बाखरवड़ी

recipe-making-india-bakharvadi

दोस्तों महाराष्ट्रीय नमकीन व्यंजनों में “बाखरवड़ी” को नमकीनों की महारानी कहा जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी.

इसके स्वाद का अन्दाज़ा इसी बात से लगा सकते हैं कि हमारे महाराष्ट्र के रिश्तेदार आने से एक महीने पहले हमें ताकीद कर देते हैं कि “बाखरवड़ी” बनाकर रखोगे तब ही ग्वालियर आयेंगे.

यहाँ उल्लेखनीय है कि ग्वालियर के मराठे “बाखरवड़ी” बनाने में अतुलनीय हैं बेमिसाल हैं, मदिरापान के समय तीखा नमकीन खाने वालों के लिए “बाखरवड़ी” से स्वादिष्ट व्यंजन कोई हो ही नहीं सकता.

खैर उसकी तारीफ़ छोड़कर मैं यहाँ उसके बनाने की सामग्री के साथ उसके बनाने की विधि चित्रों के साथ समझा रहा हूँ.

सामग्री

बेसन ————– एक किलो.
हरा धनिया ———आधा किलो
हरी मिर्च————250 ग्राम
लहसुन ————पांच बड़ी गांठे
अदरक ———— दौ सौ ग्राम
सौंफ —————सौ ग्राम
तिल्ली ————150 ग्राम
खसखस ———–50 ग्राम
नारियल किसा हुआ——— सौ ग्राम
काला मसाला —–सौ ग्राम
लाल मिर्च ———पचास ग्राम
नमक ————- स्वादानुसार

bhakharvadi-making-india
विधि

अदरक किस लें, लहसुन बारीक कूट लें, हरा धनिया एवं बेसन को छोड़कर सभी सामग्रियों को मिलाकर कम तेल में भून लें.

जब ये भुन जाए तब इसमें कटा हुआ धनिया आखिर में डालकर उसको भी इसके साथ थोड़ा सा भून लें.

बेसन में हल्दी और नमक अपने स्वादानुसार मिलाकर थोड़ा कड़क गूँथ लें.

इसके बाद बड़ी बड़ी लोई बना कर बड़ी थाली बराबर रोटी जैसी बेल ले इस पर मसाला फैला दें.

मसाले पर साफ़ पोलिथीन बिछाकर हलके हाथ से बेल दें सामग्री एकसी चिपक जायेगी इसका रोल बना लें.

उसे थोड़ा सा दबाकर चपटा कर लें इसके बाद बर्फी की तरह तिरछा काट लें.

इसके बाद पतीले में एक लौटा पानी भरकर उसके ऊपर चलनी रख दें चलनी में बर्फी जैसे पीस यानी बड़ी बनाकर रख दें एवं तीन चार मिनट भाप दें तत्पश्चात तल लें, एक बेहतरीन और स्वादिष्ट व्यंजन तैयार है.

– अजित भोंसले

माँ की ही नहीं, सखी की रसोई में भी हो रही दीपावली की तैयारी : सिंधी दाल पकवान

और माँ की रसोई से गुजराती चोराफड़ी एवं अन्य रेसिपीज़

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY