मुश्किल में हिलेरी, FBI फिर करेगी गुप्त ईमेल सर्वर मामले में जांच, ट्रंप ने की सराहना

trump-hillary-email-server-investigation-fbi

वाशिंगटन. अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के विदेश मंत्री रहने के दौरान गुप्त ईमेल सर्वर के इस्तेमाल मामले में फिर से जांच शुरू कर दी है.

इससे जहां हिलेरी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं वहीं, राष्ट्रपति चुनाव में हिलेरी के प्रतिद्वंद्वी और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने एफबीआई के इस कदम की सराहना की है.

एफबीआई के निदेशक जेम्स कोमी ने कांग्रेस के नेताओं को एक पत्र में कहा कि एफबीआई को नई ईमेल के बारे में पता चला है जो उनकी जांच से जुड़े लगते हैं.

कोमी ने लिखा, एक दूसरे मामले में एफबीआई को उन ईमेलों का पता चला है जो इस जांच से जुड़े हो सकते हैं.

उन्होंने लिखा कि मैं आपको यह सूचित करने के लिए पत्र लिख रहा हूं कि जांच दल ने कल मुझे बताया था और मैं सहमत हो गया था कि एफबीआई को जांच के लिए उचित कदम उठाने चाहिए.

कोमी ने लिखा, इन कदमों से जांचकर्ताओं को इन ईमेल का अध्ययन कर यह पता लगाने में मदद मिलेगी कि क्या इनमें गोपनीय जानकारी थी. उन्हें हमारी जांच में इन ईमेल की प्रासंगिकताओं का आकलन भी करना है.

गौरतलब है कि हिलेरी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पहले कार्यकाल में 2009 से 2013 तक विदेश मंत्री रहने के दौरान गुप्त ईमेल सर्वर का इस्तेमाल करने के लिए खेद जता चुकी हैं.

हिलेरी के इस कृत्य को राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने वाला मानकर उसकी ज़बरदस्त आलोचना की गई थी.

एफबीआई का यह ऐलान आठ नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से कुछ ही दिन पहले अनपेक्षित घटनाक्रम के तौर पर आया है.

हालांकि हिलेरी ने एफबीआई की ओर से मामले की फिर से जांच किए जाने की घोषणा के बाद साहस और निश्चिंतता का प्रदर्शन किया.

इस घोषणा के बाद अपनी पहली टिप्पणी में उन्होंने कहा कि यह अनिवार्य है कि ब्यूरो इस मामले पर बिना किसी देरी के विस्तार से जानकारी दे. हिलेरी ने कहा कि अमेरिकी लोग तथ्यों के बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के हकदार हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY