संस्कृत कक्षा – 3 : संख्या

संख्या
१ एकम् २ द्वे ३ त्रीणि ४ चत्वारि ५ पंच
६ षट् ७ सप्त ८ अष्ट ९ नव १० दश
२० विंशति: ३० त्रिंशत् ४० चत्वारिंशत् ५० पंचाशत्
६० षष्टि: ७० सप्तति: ८० अशीति: ९० नवति: १०० शतम्
१,००० सहस्रम् १,००,००० लक्षम् १,००,००,००० कोटि: ..
कुछ वाक्य – वर्तमान काल में एक वचन बहुवचन के साथ
अहं पठामि – मैं पढ़ता हूँ.
आवाम् पठाव: – हम (दोनो) पढ़ते है.
वयम् पठाम: – हम (अनेक) पढ़ते हैं.
त्वम् पठसि – तू पढ़ता है.
युवाम् पठथ: – तुम (दोनो) पढ़ते हो.
यूयम् पठथ – तुम (अनेक) पढ़ते हैं .
स: पठति – वह पढ़ता है .
सा पठति – वह पढ़ती है .
तौ पठत: – वे (दोनों) पढ़ते है.
ते पठत: – वे (दोनो) पढ़तीं हैं.
ते पठन्ति – वे (अनेक) पढ़ते हैं.
ता: पठन्ति – वे (अनेक) पढ़तीं हैं.
भवान् पठति – आप पढ़ते हो.
भवती पठति – आप पढ़ती है.

– मुकुन्द हम्बर्डे

पहले की कक्षा के पाठ –

संस्कृत कक्षा -1 : शुरू करो संस्कृताक्षड़ी लेके प्रभु का नाम

संस्कृत कक्षा-2 : वर्तमान काल में एकवचन और बहुवचन का प्रयोग

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY