इमरान को डर, पाकिस्तान को तोड़ देगा भारत

imran-khan

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर में भारत की कामयाब सर्जिकल स्ट्राइक और उसके बाद दुनिया भर से भारत को मिले समर्थन से पाकिस्तान अलग-थलग पड़ ही गया है.

इसके साथ ही भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बलोचिस्तान का मुद्दा वैश्विक स्टार पर उठाने और उसके बाद बलोचिस्तान में आज़ादी के आन्दोलन के तेज़ हो जाने से अब पाकिस्तानी नेताओं को अपना देश टूटने का दर सता रहा है.

क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने मंगलवार को दावा किया कि भारत पाकिस्तान को ‘तोड़ने’ और भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाए गए कदमों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा है.

बलोचिस्तान के क्वेटा के लिए रवाना होने से पहले इमरान ने कहा, भारत में एक नए सिद्धांत का जन्म हुआ है जिसका लक्ष्य पाकिस्तान को तोड़ना है क्योंकि वे हमें सेना के जरिए हराने में सफल नहीं हो सके.

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के 64 वर्षीय अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया.

गौरतलब है कि पाकिस्तान के अशांत बलोचिस्तान प्रांत में एक पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पर आईएसआईएस आतंकियों द्वारा किए गए हमले में बहुसंख्य पुलिस कर्मियों समेत 61 सुरक्षा कर्मियों की मौत हो गई और सैकड़ों अन्य घायल हो गए.

इमरान ने कहा कि भारत नहीं चाहता है कि पाकिस्तान में आंतरिक राजनीति सुधार आंदोलन सफल हो.

उन्होंने कहा, हम लोग जब भी देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ सुधार आंदोलन की शुरुआत की योजना बनाते हैं, उसी समय इस तरह के आतंकी हमले हो जाते हैं.

इमरान ने शरीफ को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया क्योंकि उनके मुताबिक पनामा पेपर लीक के बाद प्रधानमंत्री खुद को जवाबदेही से बचाने में लगे हैं.

उन्होंने साथ ही कहा, जब बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि भारत प्रांत में कानून और व्यवस्था की स्थिति को बिगाड़ने में लगा है तो हमारे प्रधानमंत्री इस मुद्दे को वैश्विक मंच पर क्यों नहीं उठा रहे हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY