Introducing Nayika : सूत्रधार

हर फिल्म का एक नायक होता है…………..

और होती है एक नायिका…………………….

 

फिल्म चाहे पुरानी हो या नई……….

हर फिल्म मे एक नायक होता है………….

और होती है एक नायिका……………

 

बात चाहे नायक की सफलता की हो या असफलता की…………

हर नायक के पीछे होती है एक नायिका………..

 

बात चाहे प्रेम की हो रही हो या नफरत की……………

हर नायक के मन में होती है एक नायिका…………..

 

बात चाहे गीत की हो या संगीत की……..

एक होता है नायक………..

एक होती है नायिका…………………

 

बात चाहे किसी कहानी की हो या उपन्यास की……………

एक होता है नायक………..

एक होती है नायिका…………………

 

बात चाहे किस्से कहानियों की हो या जीवन के यथार्थ की…………

एक होता है नायक………..

एक होती है नायिका…………………

 

कहानी चाहे 100 साल पहले की हो, पिछले जन्मों की हो या आज कल के कम्प्यूटर और इंटरनेट के ज़माने की………..

एक होता है नायक………….

और एक होती है उसकी नायिका………….

 

तो हमारी इस कहानी का भी है एक नायक और एक है नायिका……………

 

नायक के बारे में अभी से बताना शुरू कर दिया तो कहानी आगे नहीं बढ़ सकेगी………

तो पहले मिलिए नायिका से……………

 

अच्छा तो आप ये जानने के लिए उत्सुक हैं कि मैं कौन हूँ?

जैसे हर कहानी का एक नायक होता है, और एक नायिका होती है……. वैसे ही उस कहानी की बागडोर संभालने वाला एक सूत्रधार भी तो होता है……………

तो मैं हूँ सूत्रधार……………… बस इतना ही काफी है मेरे बारे में, क्योंकि कहानी के किरदार इतने महत्वपूर्ण है कि सूत्रधार का महत्व शून्य के बराबर है…. लेकिन… किंतु, परंतु………….. हमारी कहानी में सूत्रधार सिर्फ मैं नहीं हमारे पाठक भी होंगे, और इसमें कोई शक़ नहीं कि उनकी भूमिका भी अतिमहत्वपूर्ण है, क्योंकि कहानी को आगे तो आप ही बढाएँगे……….. जहाँ आप रुक गए वहाँ मैं हाजिर लेकिन सिर्फ आपकी मदद के लिए………….

तो नायक कभी कहता है मैं सड़क का आदमी तो कभी कहता है मैं हवा हूँ, कभी कहता है मैं कुछ नहीं, कभी कहता है हर जगह मैं ही तो हूँ, नायिका कहती है मैं तुम्हारी तुम, उसके बाद नायक चुप और नायिका हो जाती है उसका मौन…………….

 

ना इसका मतलब ये न समझिए कि नायक और नायिका एक दूसरे को जानते हैं…… नहीं, हर फिल्मी कहानी की तरह अभी दोनों की पहली मुलाकात बाकी है……….. और ये पहली मुलाकात कब होती है ये तो खुद सूत्रधार यानि आपको और मुझे भी नहीं पता………..

 

यदि जानना चाहते हैं तो जुड़े रहिये हमारी इस कहानी से, जो आपको लेकर जाएगी एक जादुई दुनिया में… आखिर नायिका के “जादू” को भी तो देखना है ना!

– सूत्रधार

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY