विकिलीक्स ने सार्वजनिक किए ओबामा के निजी ई-मेल

barack obama

वॉशिंगटन. विकिलीक्स ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के निजी ई-मेल का खुलासा किया है, जिसके बाद डेमोक्रेटिक पार्टी को शर्मिंदगी झेलनी पड़ सकती है.

विकिलीक्स द्वारा जारी सात संदेशों में से एक 2008 की है जिसमें ओबामा को उनकी ट्रांजिशन टीम के को-प्रेसिडेंट जॉन पोडेस्टा ने मेल भेजा है. वर्तमान में पोडेस्टा हिलेरी क्लिंटन के प्रचार अभियान प्रमुख हैं.

फिलहाल व्हाइट हाउस ने इस मुद्दे पर कोई भी टिप्पणी करने से साफ इन्कार कर दिया है. वहीं, अमेरिकी खुफिया अधिकारियों का मानना है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के ई-मेल्स को सार्वजनिक करने के पीछे रूस की साजिश है.

विकिलीक्स ने गुरुवार को ट्वीट किया, ‘विकिलिक्स ने गुप्त पतों के माध्यम से भेजे गए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के ई-मेल की पहली खेप का खुलासा कर दिया है.’

ट्वीट के अंदाज से लगता है कि ओबामा के और भी निजी संपर्कों का खुलासा किया जाएगा.

न्यूयॉर्क पोस्ट के मुताबिक, विकिलीक्स ने सात संदेशों को प्रकाशित किया है, जिसमें एक ई-मेल एड्रेस कथित तौर पर commander-in-cheif:bobama@ameritech.net है.

ई-मेल की एक कनवर्सेशन 4 नवंबर, 2008 की है जिस दिन अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव था.

इसमें ओबामा की ट्रांजिशन टीम के को-प्रेसिडेंट जॉन पोडेस्टा ने ओबामा से निवेदन किया है कि वह वैश्विक आर्थिक मंडी पर 15 नवंबर को जी-20 मीटिंग का आमंत्रण स्वीकार न करें.

जॉन पोडेस्टा ने यह भी लिखा है कि ओबामा के आधिकारिक रूप से निर्वाचित होने के बाद, यदि अपना कार्यकाल पूरा कर रहे राष्ट्रपति जॉर्ज बुश, रात को उन्हें आमंत्रित करते हैं, तो भी उन्हें इस सम्मेलन में नहीं जाना चाहिए.

पोडेस्टा ने कहा, हो सकता है कि राष्ट्रपति जॉर्ज बुश यह मुद्दा रात को आपके समक्ष उठाएं. मैं चाहता हूं कि आप इस बात को लेकर सतर्क रहें कि यह आपके लिए एकमत से की गई सिफारिश है कि आप उस बैठक में हिस्सा न लें.

दिलचस्प बात यह है कि इसके बाद वाशिंगटन में जब जी-20 की बैठक हुई थी, तब बराक ओबामा उसमें शामिल नहें हुए थे.

ओबामा के इस कथित इमेल आईडी पर गुरुवार को एक ई-मेल भेजा गया, जो वापस नहीं आया, जिसका मतलब यह है कि यह अकाउंट अभी भी एक्टिव हो सकता है.

व्हाइट हाउस ने इस मुद्दे पर कोई भी टिप्पणी करने से साफ इन्कार कर दिया है. अमेरिकी खुफिया अधिकारियों का मानना है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के ई-मेल्स को सार्वजनिक करने के पीछे रूस की साजिश है.

ओबामा के ई-मेल, पोडेस्टा के हैक हुए लगभग 23,000 ई-मेल में से हैं. वर्तमान में पोडेस्टा हिलेरी क्लिंटन के प्रचार अभियान प्रमुख हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY