मोदी सरकार की नई योजना : शहीद सैनिकों के नाम शालाओं में लगेंगी पट्टिका

केंद्र सरकार ने युद्ध और आतंकी हमलों में शहीद होने वाले सैनिकों को सम्मान देने के लिए एक अनूठी योजना शुरू की है. ये योजना शहीद दिवस के दिन शुरू की गई.

अब शहादत पाने वाले फौजी के नाम की एक पट्टिका उसी स्कूल में लगाईं जाएगी, जहाँ वो बचपन में पढ़ा करते थे. पास के एक गांव बांदेड़ी के एक स्कूल में प्यारेलाल के नाम की पट्टिका लगाईं गई.

प्यारेलाल कश्मीर में 1991 में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे. उनके दोनों बेटों ने भी भारतीय सेना में अपना कॅरिअर बनाया.

बड़ा बेटा फ़ौज से रिटायर हो चुका है और छोटा सीमा सुरक्षा बल में जैसलमेर पर तैनात है. बस एक ही बात अखरी कि ये पट्टिका अंग्रेजी में है. प्रधानमंत्री कार्यालय से निवेदन है कि अंग्रेजी का प्रयोग न कर हिंदी या क्षेत्रीय भाषाओँ में ऐसी पट्टिकाए बनवाई जाए.

दूर दराज के गांवों में स्कूलों के बच्चे अंग्रेजी नहीं पढ़ पाते हैं. कृपया कोई मित्र पीएमओ तक ये निवेदन पहुंचाने का कष्ट करें. साधुवाद केंद्र सरकार.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY