राहुल और प्रशांत किशोर से नाराज़ रीटा ने छोड़ी कांग्रेस, बनीं भाजपाई

नई दिल्ली. पिछले कई दिनों से लग रही अटकलों को सच साबित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व यूपी कांग्रेस अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं.

दिल्ली भाजपा कार्यालय में गुरुवार को उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. इसे कुछ ही महीने में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए ज़बरदस्त झटका माना जा रहा है.

[भावना आहत मत करो शुद्धतावादियों, संदेश समझो]

इस मौक़े पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि राहुल गांधी की ख़ून की दलाली वाली टिप्पणी सुनकर उन्हें काफ़ी दर्द हुआ.

उन्होंने कहा, भाजपा के बाद सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पार्टी, कांग्रेस स्वीकार नहीं कर रही है कि हमने सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं और प्रमाण मांग रही है और संदेह उत्पन्न कर रही है.

[Follow Up : भावना आहत मत करो शुद्धतावादियों, संदेश समझो]

जोशी ने कहा, कांग्रेस के इस रवैये से विश्व में हमारी साख कमज़ोर पड़ी है. मुझे इसका बहुत दुख है. मैंने ट्वीटर पर अपनी नाराज़गी भी ज़ाहिर की थी.

रीता बहुगुणा जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आस्था जताते हुए सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन किया और कहा कि वे सोच-समझ कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रही हैं.

रीता ने भाजपा में शामिल होने के वजह बताते हुए कहा कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सब कुछ संभालने के वक्त तक कोई परेशानी नहीं थी, लेकिन राहुल गांधी के आगे आ जाने के बाद से कांग्रेस में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है

रीता ने यूपी में कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा, प्रशांत किशोर पोल मैनेजर तो हो सकते हैं पोल के डायरेक्टर नहीं हो सकते.

रीता ने कहा कि, मैं बहुगुणा जी की बेटी निश्चित हूं लेकिन मैंने बहुत संघर्ष किया है. हम ज़मीनी नेता है. लेकिन दुर्भाग्यवश चुनाव का पूरा डायरेक्शन प्रशांत किशोर के हाथों में सौंप दिया गया.

रीता वर्तमान में लखनऊ कैंट से कांग्रेस की विधायक हैं. उन्होंने विधायक पद से भी इस्तीफ़ा दे दिया है.

रीता बहुगुण जोशी उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा की बेटी हैं और 2007 से 2012 के बीच यूपी कांग्रेस कमेटी की अध्‍यक्ष रही हैं.

इससे पहले उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और रीता बहुगुणा के भाई विजय बहुगुणा भाजपा में शामिल हुए थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY