फ़िल्मों के डांसिंग स्टार शम्मी कपूर

पृथ्वीराज कपूर के दूसरे बेटे शमशेर राज कपूर उर्फ शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर 1931 को मुंबई में हुआ था.

शम्मी कपूर ने वर्ष 1953 में फ़िल्म ‘ज्योति जीवन’ से अपनी अभिनय की शुरुआत की, इसके बाद फिल्म ‘तुम सा नहीं देखा’ ‘दिल दे के देखो’, जंगली  ने शम्मी कपूर को शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचा दिया.

वे फ़िल्मों में एक सिंगिंग-डांसिंग-स्टार के रूप में अपनी छवि बनाने में कामयाब रहे. फिल्म ‘तीसरी आंख’, ‘प्रोफेसर’, ‘चार दिल चार राहें’, ‘रात के राही’, ‘चाइना टाउन’, ‘दिल तेरा दीवाना’, ‘कश्मीर की कली’ ,’ब्लफमास्टर’ और ‘ब्रह्मचारी’ के प्रदर्शन के बाद वे दर्शकों के चहेते अभिनेता हो गए.

उन्हे ‘भारत का एल्विस प्रेसली’ भी कहा जाता है. रॉकस्टार शम्मी कपूर इंटरनेट और गाड़ियाँ चलाने का शौक़ रखते थे. उनकी शादी अभिनेत्री गीता बाली से हुई थी.

मुख्य भूमिका के अलावा उन्होने चरित्र अभिनय भी किया और चरित्र अभिनेता के रूप में उन्हे ‘विधाता’ फ़िल्म के लिए श्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार भी मिला.

14 अगस्त, 2011 को मुंबई के ब्रीज कैंडी अस्पताल में उनकी मृत्यु हुई.
हरदिल अज़ीज़ शम्मी कपूर को भावभीनी श्रद्धांजलि !

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY