मोसुल में अंतिम जंग का ऐलान, इराकी पीएम ने कहा- आ गया फ़तह का वक़्त

बगदाद. इराक़ के प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी ने कहा है कि कुख्यात इस्लामिक आतंकवादी संगठन ISIS से उसके कब्ज़े वाले मोसुल शहर को छुड़ाने के लिए सैन्य कार्रवाई शुरू हो गई है.

इराक के प्रधानमंत्री हैदल अल अबादी ने कहा है कि अब मोसुल को इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकियों से मुक्त कराने का समय आ गया है. अब आखिरी लड़ाई शुरू होगी और मोसुल फिर से हमारा होगा.

उन्‍होंने सरकारी टीवी पर प्रसारण के दौरान कहा कि अब हम सभी मोसुल में मिलेंगे ओर जीत का एकसाथ जश्न मनाएंगे. अबादी ने कहा कि ऊपर वाला हमारे साथ है, जल्द ही हमारी सेना मोसुल से इस्लामिक स्टेट के आतंकियों का खात्मा कर इसे जीतने में कामयाब हो जाएंगी.

अबादी ने अपने संबोधन में कहा, फ़तह का वक़्त आ गया है और मोसुल को आज़ाद कराने के लिए कार्रवाई शुरू हो गई है. उन्होंने कहा, आज मैं एलान करता हूं कि फ़तह की ये कार्रवाई आपको दाएश की हिंसा और चरमपंथ से निजात दिलाएगा.

गौरतलब है कि सुन्नी बहुल शहर मोसुल पर जून 2014 से ही इस्लामिक स्टेट का कब्ज़ा है. इसको अपने कब्ज़े में लेने के काफी समय से इराकी फौज कोशिश करती आ रही है. यह इराक का दूसरा सबसे बड़ा शहर भी है.

टीवी पर देशवासियों को दिए अपने संबोधन में पीएम अबादी ने कहा कि वह मोसुल में इराकी फौज द्वारा किए जाने वाले अंतिम प्रहार का ऐलान कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि जब हमारे जवान अपनी पूरी क्षमता को दर्शाएं और दुश्मन को घुटने टेकने पर मजबूर कर दें.

साथ ही उन्होंने कहा कि देश के सभी धर्मों और जातियों के लोग इस मुद्दे पर उनके और इराकी फौज के साथ है. इस मौके पर उन्होंने सभी समर्थक सेनाओं का भी आह्वा्न किया कि वह मोसुल पर होने वाले अंतिम प्रहार में अपनी अहम भूमिका निभाएं.

इराकी पीएम के इस संबोधन पर अमेरिकी रक्षा विभाग के सचिव एश कार्टर ने कहा कि अमेरिका समेत अन्य फौज इस हमले के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

वहीं संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि इस पूरी लड़ाई का मानवीय असर बड़ा गंभीर हो सकता है. मोसुल शहर में और आसपास लगभग 12 लाख लोग रहते हैं.

कार्टर ने भरोसा दिलाया कि सभी इराकी फौज का समर्थन कर रही सभी सेनाओं द्वारा उनकी हर संभव मदद की जाएगी. उन्‍होंने भी उम्मीद जताई है कि सभी आईएस से लड़ने में इराकी फौज का साथ देंगे और मोसुल को आतंक मुक्त करवाएंगे.

कुर्द पेशमरगा और इराक़ी बलों की इस कार्रवाई को अमरीका के नेतृत्व वाले गठबंधन का सहयोग प्राप्त है जो इराक़ में इस्लामिक स्टेट से लड़ रहा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY