ये पांच फायदे जानकर आप फेंकना छोड़ देंगे बची हुई चाय पत्ती

भारत चाय के शौकीनों का देश है. कुछ लोगों को तो जैसे इसका नशा ही होता है. ऐसी तलब होती है कि हर घंटे में चाय चाहिए.

लेकिन क्या आप चाय बनाने के बाद बची चाय पत्ती फेंक तो नहीं देते. आइये हम आपको बताते हैं. बची हुई चाय पत्ती के बेहतरीन उपयोग.

1. चायपत्ती में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. ऐसे में चोट या किसी जख्म पर चायपत्ती का लेप लगाना फायदेमंद रहता है. उबली हुई चायपत्ती को अच्छी तरह धो लें. इसे चोट पर लगाने से घाव जल्दी भर जाएगा. इसके अलावा आप चाहें तो चायपत्ती को धोकर दोबारा उबाल लें. इस पानी से घाव धोना भी फायदेमंद रहेगा.

2. चायपत्ती का पानी एक बेहतरीन कंडिशनर होता है. चायपत्ती को धोकर दोबारा उबाल लें. इस पानी से बालों को धोएं. इससे बाल चमकदार और सॉफ्ट हो जाएंगे.

3. चायपत्ती को दोबारा धोकर सुखा लें. काबुली चने बनाते समय इस चायपत्ती का इस्तेमाल किया जा सकता है. इससे चने की रंगत निखर जाएगी.

4. बची चायपत्ती को दोबारा उबाल लें. इस पानी को एक स्प्रे बॉटल में भरकर, फर्नीचर की सफाई करें. इससे फर्नीचर चमक उठेंगे.

5. बची हुई चायपत्ती को धोकर साफ कर लें, और इसे खाद के रूप में गमले में डालिए. ख़ास कर गुलाब के पौधों के लिए यह बहुत फायदेमंद है.

Comments

comments

loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY