Modi Fans को Sexually frustrated indians कहनेवाले अंग्रेज भगत को GF तो पूरी मिली नहीं!

बेस्ट सेलर लेखक चेतन भगत ने ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लिखे अपने एक आर्टिकल में खुद को उनका वफादार कहने वाले ‘अंध भक्तों’ को ‘सेक्सुअली फ्रस्ट्रेटेड’ कहा है.

चेतन के मुताबिक ऐसे ‘मोदी भक्त’ अपनी खराब अंग्रेजी की वजह से महिलाओं को ‘रिझा’ नहीं पाते हैं. चेतन ने मोदी भक्तों को ‘हीन भावना से ग्रसित भारतीय’ पुरुष कहा है. बकौल चेतन, ये लोग अपनी खराब अंग्रेजी और पृष्ठभूमि को लेकर शर्मिंदा और सेक्सुअली फ्रस्ट्रेटेड हैं.

इस अंग्रेजी पढ़े-लिखे और अंग्रेज़ी में लिखने वाले चेतन भगत की बुद्धि पर शर्म आ रही है. मोदी के भक्तों में सेक्सुअल फ्रस्ट्रेशन कहाँ से आ गया. सेक्स साइकोलॉजी पर कोई किताब पढ़ लो, अंग्रेजी लेखक. ‘खराब अंग्रेजी की वजह से महिलाओं को रिझा नहीं पाते.’ सारी महिलाएँ अच्छी अंग्रेजी बोलने वालों की तलाश में हैं ना?

तो महाशय चेतन भगत, आपसे तो हिन्दुस्तान की सारी महिलाएँ रीझी हुई होंगी? आपको Girl Friend तक तो पूरी मिली नहीं, Half से गुज़ारा कर रहे हैं. मुझे तो आप लग रहे हैं सेक्सुअली फ्रस्ट्रेटेड. नाम क्या कमा लिया, अपने को सातवें आसमान पर समझने लगे?

मैंने जब इनकी पहली पुस्तक Five Point …. ऐसा कुछ नाम था, पढ़ी थी, तब आश्चर्य हुआ था कि आखिर ऐसा है क्या इस उपन्यास में, जो इतना धूम-धड़ाका मचा है? इससे बेहतर कहानियाँ मैंने लिखी हैं (जाँच करवा लीजिये) और मुझसे हज़ार गुणा अधिक बढ़िया लिखने वाले अनेक लेखक हिन्दी में हैं.

ऐसा नहीं है कि हिन्दी लेखकों ने प्रतिष्ठा नहीं पाई, लेकिन इस इंग्लिश वाले की तरह घमंडी बयानबाज़ी नहीं की. यह बन्दा तो अपनी औकात में ही नहीं है. Superiority Complex (जो वस्तुतः Inferiority Complex (हीन भावना) ही होता है) का मारा हुआ है. एक वाक्य हवा में उछाल दिया, विपक्षियों को कैच करने में देर लगती है क्या? हमला शुरू.

इंसान खराब या अच्छी भाषा बोलने से नहीं, अपने चरित्र से इज़्ज़त पाता है. चेतन भगत का चरित्र और बुद्धि, दोनों जगजाहिर हैं. Girl Friend तक तो पूरी मिली नहीं, Half से गुज़ारा कर रहा है. सेक्सुअली फ्रस्ट्रेटेड कहीं का.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY